Monday , July 15 2024
Breaking News

CM खट्टर को देना पड़ा इस्तीफा

कसभा चुनाव की घोषणा से ठीक पहले हरियाणा में एक भाजपा सांसद का इस्तीफा क्या हुआ, राज्य की सरकार ही खतरे में आ गई. हां, दो दिन पहले हिसार से भाजपा सांसद बृजेंद्र सिंह का कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे वेलकम कर रहे थे और आज खबर आई कि हरियाणा में भाजपा और जेजेपी का गठबंधन टूटने वाला है. 90 सदस्यों वाली विधानसभा में क्या भाजपा की सरकार गिर जाएगी? जेजेपी अब तक सरकार में थी, अचानक ऐसा क्या हुआ कि वह नाराज हो गई? क्या सीएम मनोहर लाल खट्टर की जगह नए चेहरे को लाने का यह भाजपा प्रयोग है, जैसा उत्तराखंड समेत कई राज्यों में देखा गया है? ऐसे कई सवाल आज सुबह से सियासी गलियारों और न्यूज चैनल के स्टूडियों में तैर रहे हैं. इसकी शुरुआत एक इस्तीफे से हुई तो क्रोनोलॉजी समझ लेते हैं. बृजेंद्र सिंह का परिवार कांग्रेसी रहा है. उनके पिता 2014 में भाजपा में गए और मंत्री भी बन गए. अब उनकी हिसार वाली सीट जेजेपी को मिलने वाली थी, उन्हें खबर लगी तो वह कांग्रेस में चले गए. जो कारण उन्होंने गिनाए वो सभी भाजपा के खिलाफ जाते हैं. किसानों के मुद्दे पर हरियाणा, पंजाब और वेस्ट यूपी के एक तबके में नाराजगी है. उन्होंने अग्निवीर और महिला पहलवानों के मुद्दे का भी जिक्र किया जो हरियाणा में काफी चर्चा में रहा है. आज भी पहलवान उस समय की तस्वीरें शेयर कर रहे हैं. बृजेंद्र सिंह ने कहा कि मैं भाजपा में असहज था. हरियाणा की भाजपा सरकार में शामिल जेजेपी के नेता और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने तंज में दो लाइनें लिखीं. उन्होंने बृजेंद्र सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि दर-दर पे जाकर दुआ बदलते हैं. लोग खुद नहीं बदलते, खुदा बदलते हैं. हालांकि असली पिक्चर अभी बाकी थी. जननायक जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव को लेकर बैठक की. सीट शेयरिंग को लेकर भी बात हुई.

About admin

Check Also

सवर्गीय राजा वीरभद्र सिंह की पुण्यतिथि के मौके पर दौड़ का किया गया आयोजन

आज हिमाचल प्रदेश के 6 बार के मुख्यमंत्री रहे सवर्गीय राजा वीरभद्र सिंह की पुण्यतिथि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *