Friday , July 19 2024
Breaking News

वर्तमान राज्य सरकार के कार्यकाल में 14.29 लाख से ज्यादा परिवार गरीबी रेखा से ऊपर आए – मुख्यमंत्री

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि जब हमने 2014 में सरकार की बागडौर संभाली, उस समय 2015-16 में हरियाणा की गरीबी दर 11.88 प्रतिशत आंकी गई थी। लेकिन हमारी सरकार के सकारात्मक प्रयासों के फलस्वरूप 2019-21 में यह दर 7.07 प्रतिशत पर आ गई है, जोकि साढ़े 4 प्रतिशत से भी अधिक की कमी है। इस प्रकार, हरियाणा में 14,29,341 परिवार गरीबी रेखा से उपर आए हैं।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंगलवार को हरियाणा विधानसभा के शीतकालीन सत्र में  कहा कि जब हमने 2014 में सरकार की बागडौर संभाली, उस समय 2015-16 में हरियाणा की गरीबी दर 11.88 प्रतिशत आंकी गई थी। लेकिन हमारी सरकार के सकारात्मक प्रयासों के फलस्वरूप 2019-21 में यह दर 7.07 प्रतिशत पर आ गई है, जोकि साढ़े 4 प्रतिशत से भी अधिक की कमी है। इस प्रकार, हरियाणा में 14,29,341 परिवार गरीबी रेखा से उपर आए हैं। मनोहर ने कहा कि देशभर में गरीबी रेखा की आर्थिक सीमा 1 लाख 20 हजार रुपये है, जबकि हरियाणा में हमने इस सीमा को 1 लाख 80 हजार रुपये कर रखी है, जिससे अधिक से अधिक लोगों को राशन कार्ड, आयुष्मान भारत योजना सहित विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने सदन में स्पष्ट करते हुए कहा कि हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड ने आढ़तियों की मांग पर पिछले वित्त वर्ष में एकत्रित मार्केट फीस के आधार पर फलों और सब्जियों की एकमुश्त फीस लेने की अधिूसचना जारी की थी। इस अधिसूचना के अनुसार 10 फीसदी राशि हर साल बढ़ाई जानी है। परंतु शायद इस बात को आढ़ती भाई सही तरीके से नहीं समझ पाये। इसका अर्थ यह है कि कीमत की बजाये, जो टैक्स वह जमा करवाते हैं, उस राशि पर अगले साल 10 प्रतिशत की वृद्धि की जाएगी। अगर किसी दुकानदार की 10 फीसदी बिक्री नहीं बढ़ती है तो वे दुकानदार अपील कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अधिसूचना के अनुसार 2 सालों के लिए इस 10 प्रतिशत वृद्धि को फ्रीज कर दिया है, यानि यह 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी मार्च, 2025 से लागू होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजकीय कन्या महाविद्यालय पिल्लूखेड़ा, जींद के लिए जामनी गांव में 8 एकड़ भूमि पर 29.51 करोड़ रुपये की लागत से शीघ्र ही महाविद्यालय का निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा, राजकीय महाविद्यालय, इसराना के नये भवन के निर्माण कार्य के लिए 27.92 करोड़ रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान की जा चुकी है और लोक निर्माण विभाग द्वारा जल्द ही निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अटेली के कॉलेज में ऑडिटोरियम के निर्माण के लिए 6.70 करोड़ रुपये की राशि जारी की जा चुकी है। 36 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है और इसके 30 अप्रैल, 2024 तक पूरा होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि फिरोजपुर झिरका के अस्पताल में सीआर मशीन की खरीद प्रक्रिया हरियाणा उच्चाधिकार प्राप्त समिति के माध्यम से पूरी की जा चुकी है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जल्द ही मशीन उपलब्ध करवा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सड़कों की मरम्मत के लिए सरकार त्वरित रूप से कार्य कर रही है। हालांकि अभी नई सड़कों के स्थान पर फोकस केवल सड़कों की मरम्मत, चौड़ीकरण और सुदृढ़ीकरण पर है। उसके बाद यदि आवश्यकता होगी तो नई सड़क बनाने के लिए आवश्यक प्रक्रिया अपनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों आई बाढ़ के कारण क्षतिग्रस्त हुई सड़कों की मरम्मत का कार्य प्राथमिकता से करवाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ओलंपियन गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा के गांव खंडरा में अंतरराष्ट्रीय खेल स्टेडियम बनाने के लिए की गई घोषणा को जल्द ही मूर्तरूप दिया जाएगा। ग्रामीणों की इच्छानुसार गांव में 15 एकड़ जमीन पर खेल स्टेडियम बनाया जाना था, लेकिन उस जमीन का एक मामला रेवन्यू कोर्ट में चल रहा है और संबंधित पक्ष द्वारा मामले को वापिस लेने की सहमति बन चुकी है और जल्द ही वहां स्टेडियम का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि रेवाड़ी में 150 बिस्तर के अस्पताल को 200 बिस्तर करने की स्वीकृति प्रदान की जा चुकी है। परंतु अस्पताल परिसर में जगह के अभाव के कारण 50 अतिरिक्त बिस्तरों की व्यवस्था करना संभव नहीं है। इसलिए गांव गोकलगढ़ में 50 बिस्तरों के परिसर के लिए 5 एकड़ जमीन चिह्नित की जा चुकी है और जल्द ही निर्माण किया जाएगा।

About admin

Check Also

शिमला में लोगों की परेशानी बढ़ा रही बारिश, लोकल बस स्टैंड के नजदीक भूस्खलन से आवाजाही प्रभावित

शिमला: बीते साल की तरह इस साल भी मानसून की बारिश आम लोगों की परेशानी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *