भारत को कमजोर आंकने वालों के कारण हुई डीयू में हिंसा: जेटली

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने परिसर में हिंसा के लिए भारतीय सत्ता को कमजोर आंकने वालों के बीच गठजोड़ को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने कहा कि अलगाववादी और घोर वामपंथी कुछ परिसरों में एक ही तरह की भाषा बोल रहे हैं। लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स के साउथ एशिया सेंटर में शनिवार को छात्रों के एक सवाल पर वित्त मंत्री ने यह बात कही। छात्रों ने दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज में पिछले दिनों आइसा और एबीवीपी के छात्रों के बीच झपड़ के बारे में उनकी प्रतिक्रिया पूछी थी। उन्होंने कहा कि कोई भी विचार जो देश को अलग-अलग करने की बात करता है, उससे वह नफरत करते हैं। जेटली ने कहा कि वह निजी तौर पर भारत और किसी भी समाज में बोलने की आजादी पर चर्चा के पक्षधर हैं।

Videos
देश
post-image
देश

भारतीय सेना द्वारा किये गये सर्जिकल स्ट्राइक को अब दिवस के रूप में मनाने के दिये गये आदेश

भारतीय सेना द्वारा किये गये सर्जिकल स्ट्राइक को अब दिवस के रूप में मनाने के दिये गये आदेश