भारत को कमजोर आंकने वालों के कारण हुई डीयू में हिंसा: जेटली

anvnews

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने परिसर में हिंसा के लिए भारतीय सत्ता को कमजोर आंकने वालों के बीच गठजोड़ को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने कहा कि अलगाववादी और घोर वामपंथी कुछ परिसरों में एक ही तरह की भाषा बोल रहे हैं। लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स के साउथ एशिया सेंटर में शनिवार को छात्रों के एक सवाल पर वित्त मंत्री ने यह बात कही। छात्रों ने दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज में पिछले दिनों आइसा और एबीवीपी के छात्रों के बीच झपड़ के बारे में उनकी प्रतिक्रिया पूछी थी। उन्होंने कहा कि कोई भी विचार जो देश को अलग-अलग करने की बात करता है, उससे वह नफरत करते हैं। जेटली ने कहा कि वह निजी तौर पर भारत और किसी भी समाज में बोलने की आजादी पर चर्चा के पक्षधर हैं।

anvnews anvnews anvnews anvnews
anvnews
anvnews