16 मार्च काे हाेगा यूपी के नए सीएम पर फैसला, माेदी-शाह काे ये नाम पसंद

दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के पार्लियामेंट बाेर्ड की बैठक में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद माैर्य, रेल राज्य मंत्री मनाेज सिन्हा, लखनऊ के मेयर दिनेश शर्मा के नामाें पर चर्चा हुई। हालांकि इसमें माेदी अाैर शाह की पहली पसंद के रूप में केशव माैर्य अाैर मनाेज सिन्हा बताए जा रहे हैं। इससे पहले पीएम नरेंद्र माेदी ने कार्यकर्ताअाें काे संबाेधित किया।
 पीएम ने कहा कि - 
> मैं ऐसा प्रधानमंत्री हूं जिससे पूछा जाता है इतना काम क्यों करते हो।
> हमसे गलती हो सकती है हमारे इरादे गलत नहीं।
> 2022 में भारत की आजादी के 75 साल पूरे होंगे, हम सपनों का भारत बनाएंगे।
> पांचो राज्यों के हमारे साथी आपकी आकांक्षाओं को पूरा करेंगे।
> सरकार बनती है बहुमत से चलती है सर्वमत से।
> ऐसे- ऐसे चेहरे पांचों राज्यों में आपने चुनकर भेजा है जिनको कभी सुर्खियां नहीं मिलीं।
> सवा सौ कऱोड़ देशवासियों के साथ बनाएंगे न्यू इंडिया।
> कठोर परिश्रम से आज यहां हम पहुंचे हैं, सौगात में जीत नहीं मिली।
>वोट दिया न दिया वो नतीजों तक ठीक, सरकार सबकी होती है, सबके लिए होती।
>कार्यकर्ता जीत में सबसे बड़े सहभागी, उनके लिए बहुत-बहुत बधाई। शाह टीम को जीत की बधाई।
> देश के मध्यम वर्ग के सपने और गरीब की ताकत मिलाना जरूरी।
> मध्यमवर्ग का बोझ कम होना चाहिए।
>गरीब विकसित होगा तो देश को ज्यादा आगे बढ़ाएगा।
> जितना गरीबों को अवसर मिलेगा, उतना देश आगे बढ़ेगा।
> हमें अधिकतम कार्य करके जनसेवा कनरी है।
> आज जनता जनार्दन की आकांक्षाओं का हम जीत बने हैं।
बता दें कि उत्तर प्रदेश में भाजपा ने शानदार जीत हासिल कर इतिहास रच दिया है। 2012 में 47 सीटें जीतने वाली बीजेपी को 2017 में 325 सीटें मिली हैं। पिछले पांच साल के दौरान राज्य में बीजेपी 6 गुना बढ़ गई है। 66 सालों के दौरान ये किसी भी पार्टी की तीसरी सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले 1951 में कांग्रेस ने 430 में से 388 सीटें जीती थीं। इस बार सपा-कांग्रेस गठबंधन ने 55 सीटाें पर जीत हासिल की वहीं बसपा काे माेदी की सुनामी के चलते महज 19 सीटाें पर संतुष्ठ हाेना पड़ा। 5 निर्दलीय प्रत्याशियाें ने भी जीत हासिल की।

Videos
उत्तर प्रदेश
post-image
उत्तर प्रदेश

पार्टी दफ्तरों में मिलाने के मामले में प्रदेश सरकार को 26 सितंबर तक अपना पक्ष रखने के लिए कहा

पार्टी दफ्तरों में मिलाने के मामले में प्रदेश सरकार को 26 सितंबर तक अपना पक्ष रखने के लिए कहा