रामनिवास ने जीता मिस्टर इंडिया बॉडी बिल्डिंग का खिताब

anvnews

नांगल खेड़ी गांव के रामनिवास मलिक का जिद थी कि मिस्टर इंडिया बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप का खिताब जीतना है। इसके लिए उन्होंने दो महीने से परिवार वालों का मुंह नहीं देखा। रिश्तेदारों की शादी समारोह से भी किनारा कर लिया। हर रोज आठ घंटे दिल्ली में कोच सोम की निगरानी में जिम में कड़ा अभ्यास किया। नतीजा ये रहा कि रामनिवास ने 2 से 4 मार्च को गुरुग्राम में हुई मिस्टर 2017 बॉडी बिल्डिंग में स्वर्ण पदक और ऑल ओवर रनर अप रहे। उनका नवंबर 2017 में साउथ कोरिया में होने वाली व‌र्ल्ड बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप के लिए इंडिया की टीम में चयन भी हो गया है।
पदक के लिए छोड़ा घर
झारखंड के चकरधरपुर में सीनियर टीटीई के पद पर कार्यरत रामनिवास ने बताया वह सेक्टर-11 के जिम में उम्मीद के मुताबिक ट्रेनिंग नहीं कर पा रहा थे। इसलिए उसने तीन महीने पहले जिम व घर छोड़ दिया और दिल्ली में डेरा डाल दिया। सिर्फ जिम में कोच सोम द्वारा बताई ट्रेनिंग पर ध्यान दिया। मेहनत से सफलता मिल गई।
खान-पान पर खर्च चार लाख, मिठाई से परहेज
रामनिवास का कहना है कि खेल चाहे जो हो कड़े अभ्यास से कामयाबी मिलती है। बॉडी बिल्डिंग में तो शरीर को ट्रेनिंग की भट्ठी में तपाना पड़ता है। शरीर पर फैट न बढ़े इसलिए मिठाई व तली हुई खाद्य सामग्री छोड़ दी। हर रोज एक किलो चिकन, एक किलो फिश, 20 अंडे, चार लीटर जूस, दाल और फल खाता हूं। महीने की खुराक पर डेढ़ लाख रुपये खर्च होते हैं।
ये मिली सफलता
2014 में व‌र्ल्ड बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में कांस्य पदक।
आल इंडिया यूनिवर्सिटी में चार स्वर्ण पदक।
नार्थ इंडिया चैंपियनशिप दो स्वर्ण पदक।
नेशनल बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में दो स्वर्ण पदक।
2015 में तलवरकर बॉडी बिल्डिंग चैंपियन रहा।


anvnews anvnews anvnews anvnews
anvnews
anvnews