सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को पढ़ाना सिखाएगा अमरीका

anvnews

शिमला: सरकारी स्कूलों में बच्चों को कैसे पढ़ाना है, अब शिक्षकों को इसका तरीका अमरीका बताएगा। अप्पर प्राइमरी स्तर से लेकर हायर स्तर तक के बच्चों का रुझान पढ़ाई की तरफ कैसे लाना है, इसके टिप्स अब शिक्षक अमरीकन शिक्षकों से सीखेंगे। अमरीकी सरकार के सहयोग से केंद्र सरकार ने हाल ही में टीचिंग एक्सीलैंस एंड अचीवमैंट प्रोग्राम की शुरूआत की है जिसके तहत शिक्षकों को ट्रेनिंग के लिए विदेश भेजा जाएगा। सरकारी स्तर में शिक्षा के स्तर को सुधारने और नई तकनीक से बच्चों को पढ़ाने के लिए सरकार शिक्षकों को ट्रेनिंग के लिए अमरीका भेज रही है। अब तक स्कूलों के स्तर को सुधारने के लिए विदेशी सहायता ली जाती थी लेकिन अब इस प्रयोग से पढ़ाई का स्तर सुधारने की दिशा में कार्य होगा। इसमें कक्षा छठी से 12वीं तक के अंग्रेजी, सामान्य विज्ञान, गणित व विशिष्ट सेवा के शिक्षक भाग ले सकेंगे।

देशभर से प्रशिक्षण के लिए चयनित 80-80 शिक्षकों के 2 दल बनाए जाएंगे। 6 सप्ताह का यह प्रशिक्षण अमरीका के किसी विश्वविद्यालय में चलाया जाएगा। हालांकि इस प्रशिक्षण की कोई डिग्री या ग्रेडिंग नहीं दी जाएगी लेकिन शिक्षण विधियों, पाठ्यक्रम योजना तथा शैक्षणिक सैमीनार होंगे। चयनित प्रशिक्षणार्शियों को फ ील्ड एक्सपीरियंस के लिए यूनाइटेड स्टेट के स्कूलों में ले जाकर वहां के अध्यापकों-छात्रों से सहभागिता करवाई जाएगी।
इस योजना में हिमाचल प्रदेश सहित चंडीगढ़, दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, दमन और दीव तथा दादर व नगर हवेली शामिल हैं।
हिमाचल प्रदेश सहित देशभर के 17 प्रदेशों के शिक्षकों के लिए यह प्रोग्राम शुरू किया गया है, जिसमें भाग लेने से पहले आवेदक शिक्षकों में ऑनलाइन कंपीटीशन होगा, जिसमें चयनित शिक्षकों को अमरीका भेजा जाएगा। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने इस प्रशिक्षण में भाग लेने के इच्छुक शिक्षकों से 3 अप्रैल तक ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए हैं। स्कूल में कक्षा छठी से 12वीं तक पढ़ाने वाले पूर्णकालिक शिक्षक इसके लिए पात्र होंगे।
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  

anvnews anvnews anvnews anvnews
anvnews
anvnews