हिमाचल के छात्र बनेंगे Smart, 506 स्कूलों में लगेंगी ‘ये’ Classes

शिमला: इस साल हिमाचल प्रदेश के 506 स्कूलों में आई.सी.टी. लैब स्थापित की जाएंगी जिससे छात्र स्मार्ट कक्षाओं व मल्टीमीडिया तकनीक से पढ़ाई कर सकेंगे। हालांकि अभी विभाग ने इसके  लिए स्कूलों के नाम चयनित नहीं किए हैं लेकिन जल्द ही इसमें स्कूलों के नाम भी चयनित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इसके बाद प्रदेश में 2648 स्कूलों में आई.सी.टी. लैब होंगी, जहां छात्र स्मार्ट कक्षाओं व मल्टीमीडिया तकनीक से पढ़ाई कर सकेंगे।

23 स्कूलों में शुरू होगी वोकेशनल शिक्षा 
इसके साथ इस बार प्रदेश के 23 स्कूलों में वोकेशनल शिक्षा भी शुरू की जाएगी। इन स्कूलों में प्रथम चरण में एक ही टे्रड शुरू किया जाएगा। इसके बाद स्कूलों में अन्य ट्रेड भी शुरू किए जाएंगे। हाल ही में केंद्र सरकार के प्रोजैक्ट अपू्रवल बोर्ड ने इसके लिए अनुमति दी थी। विभाग की ओर से 100 स्कूलों का प्रस्ताव बोर्ड के समक्ष रखा गया था लेकिन बोर्ड ने प्रदेश के 23 स्कूलों में ही वोकेशनल कोर्स शुरू करने की स्वीकृति दी है। इसके लिए केंद्र से प्रदेश को 50.14 लाख की मंजूरी दी गई है।
850 स्कूलों में दी जा रही वोकेशनल शिक्षा
इस दौरान प्रदेश के 850 स्कूलों में वोकेशनल शिक्षा दी जा रही है। हालांकि अभी 117 स्कूल ऐसे हैं जहां ये कोर्स शुरू नहीं किए गए हैं। इस दौरान 20 प्रतिशत स्कूलों में ही इससे संबंधित उपकरण उपलब्ध हैं। इसके अलावा लगभग 350 स्कूलों में बच्चों को किताबें भी उपलब्ध नहीं करवाई गई हैं।

Videos
हिमाचल प्रदेश
post-image
हिमाचल प्रदेश

प्रदेश हाईकोर्ट ने बसपा नेता केदार सिंह जिंदान की हत्या से जुड़े मामले में सरकार को नोटिस जारी कर दिए

प्रदेश हाईकोर्ट ने बसपा नेता केदार सिंह जिंदान की हत्या से जुड़े मामले में सरकार को नोटिस जारी कर दिए
post-image
हिमाचल प्रदेश

‘इससे फर्क नहीं पड़ता, आदमी कहां बैठा है, पथ पर या रथ पर, तीर पर या प्राचीर पर:अटल बिहारी वाजपेयी

‘इससे फर्क नहीं पड़ता, आदमी कहां बैठा है, पथ पर या रथ पर, तीर पर या प्राचीर पर:अटल बिहारी वाजपेयी