सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की राज्य कार्यकारिणी बैठक में लिए कई बड़े फैसले

anvnews

हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की राज्य कार्यकारिणी की एक बैठक प्रदेश मुख्यालय छठी एवं नौवीं पातशाही गुरुद्वारा साहिब चीका में संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता राज्य प्रधान जगदीश सिंह झींड़ा ने की। बैठक में मुख्य प्रबंधक कमेटी के लिए 39 लाख 90 हजार, गुरुद्वारा छठी एवं नौवीं पातशाही चीका के लिए 68 लाख, गुरुद्वारा पातशाही नौवीं बड़ा साहिब (युमनानगर) के लिए 42 लाख 95 हजार व मंजी साहिब बनी बदन (कुरुक्षेत्र) 18 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है। बजट को जगदीश झींडा ने पेश किया, जिस पर सभी पार्षदों ने अपने समर्थन की मुहर लगा दी। बैठक में बजट पेश करते हुए जगदीश झींडा ने बताया कि आज प्रमुख रूप से 3 फैसले लिए गए है जिसमें जो सिख बच्चे बिना दहेज के शादियां करते हैं उन्हें सम्मानित किया जाएगा ताकि भ्रूण हत्या व दहेज प्रथा पर लगाम लगाई जा सके। दूसरा 350 साला गुरु गोबिंद सिंह जी का प्रकाशोत्सव मनाने का फैसला लिया गया, जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह व बिहार के मुख्यमंत्री नितिश कुमार को सिखों के प्रति उनके रुझान को देखते हुए सम्मानित किया जाएगा। जिसकी तिथि बाद में घोषित की जाएगी। 
तीसरा 1984 के दंगों में पानीपत के 9 सिख शहीद हो गए थे, उनके परिवारों को आर्थिक सहायता देना, कैंसर के मरीजों की आर्थिक सहायता करना व नाड़ा साहिब में पिछले दिनों जिन सिखों की दुकानें शार्ट-सर्किट के चलते जल गई थी उनकी आर्थिक मदद करना मुख्य रूप से शामिल है। उन्होंने बताया कि इस बार पिछले बजट की अपेक्षा 10 प्रतिशत बजट को बढ़ाया गया है। प्रदेश में एसवाईएल के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि हरियाणा को उसके हक का पानी मिलना ही चाहिए और जो भी राजनैतिक पार्टियां प्रदेश में पानी लाने के लिए सार्थक व भरसक प्रयास कर रही हैं, हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी उसका समर्थन करती है। झिंडा ने सभी राजनैतिक पार्टियों को सुझाव दिया कि इस मुद्दे पर वे अपने स्वार्थों को छोड़कर इकट्ठा हो जाएं ताकि पानी हरियाणा में लाया जा सके। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंध कमेटी भविष्य में अपना राजनैतिक वजूद खड़ा करेगी और चुनाव लड़ेगी ताकि हरियाणा विधानसभा में उनकी आवाज उठाने वाले उनके अपने ही लोग हों। हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया कि ऐसा सभी से सलाह-मश्विरा करने के उपरांत ही किया जाएगा। जिसके लिए अभी कोई समय-सीमा तय नहीं की गई है। 
झिंडा ने दिल्ली विश्वविद्यालय में पढऩे वाली पंजाब की छात्रा गुरमेहर कौर के बयान का समर्थन किया और कहा कि हर किसी को अपनी बात रखने का पूरा हक है। उन्होंने कहा कि जो लोग उसके बयानों का विरोध कर रहे हैं वे स्वतंत्रता के अधिकार पर पहरा बिठाने का कार्य कर रहे हैं जो कि लोकतंत्र में किसी भी तरीके से ठीक नहीं है। झींडा ने अनिल विज पर निशाना साधते हुए कहा कि पंजाब की छात्रा गुरमेहर कौर के समर्थक है वह देश द्रोही हैं उन्हें देश से बाहर निकाल देना चाहिए। हमारी कमेटी ने भी गुरमेहर कौर के बयान का समर्थन किया है। अनिल विज ने देश द्रोही कह कर हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। उन्होंने मीडिया के माद्यम से कहा की यदि हमारे देश छोड़ने से शांति मिलती है तो विज साहिब ही बताये की हम किस देश में जाएं। अगर किसी दबाब में बयान दिया है तो अकाल तखत जाकर माफी मांगें।
 

anvnews anvnews anvnews anvnews
anvnews
anvnews