जाट आरक्षण मामले में बगावत के बीच CM खट्टर ने दिखाए तेवर, नया दाव खेला है

सरकार के लिए जी का जंजाल बने जाट आरक्षण मामले में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आक्रामक तेवर दिखाते हुए अब नया सियासी दाव चला है। अब तक नाराज जाट बिरादरी को मनाने अपनी टीम के जाट मंत्रियों को मोर्चे पर लगाने वाले सीएम ने अब गैरजाट नेताओं पर भरोसा किया है। इस विवाद का हल निकालने के लिए सीएम ने अपने वरिष्ठतम मंत्री रामबिलास शर्मा की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी बनाई है। बतौर सदस्य इस कमेटी में सामाजिक न्याय अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण कुमार बेदी और मुख्य संसदीय सचिव कमल गुप्ता को शामिल किया गया है।सीएम के इस कदम को उनके विरोधियों को दिया गया जवाब माना जा रहा है। गौरतलब है कि हरियाणा में गैर जाटों की उपेक्षा को लेकर मुख्यमंत्री करीब डेढ़ दर्जन विधायकों के निशाने पर हैं। सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि यह कमेटी जल्द ही जाट आरक्षण संघर्ष समिति के पदाधिकारियों के साथ वार्ताओं का दौर शुरू करेगी।

Videos
हरियाणा
post-image
हरियाणा

देखिए कैसे जल्लाद पति,अपनी पत्नी और 12 साल की मासूम बेटी को कुर्सी से बांधकर बुरी तरीके से पीट रहा है

देखिए कैसे जल्लाद पति,अपनी पत्नी और 12 साल की मासूम बेटी को कुर्सी से बांधकर बुरी तरीके से पीट रहा है
post-image
हरियाणा

सोशल मीडिया ग्रीवेंसेज ट्रैकर पर आई वीडियो पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने लिया एक्शन,4 ससपेंड

सोशल मीडिया ग्रीवेंसेज ट्रैकर पर आई वीडियो पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने लिया एक्शन,4 ससपेंड
post-image
हरियाणा

हरियाणा के नेता अभय चौटाला बोले कि सरकार पाकिस्तान का पानी रोकने के बजाय एसवाइएल का निर्माण कराए

हरियाणा के नेता अभय चौटाला बोले कि सरकार पाकिस्तान का पानी रोकने के बजाय एसवाइएल का निर्माण कराए
post-image
हरियाणा

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने ऐलान किया कि सरकार बनते ही किसान और गरीब का सोसाइटी से लिया गया कर्ज माफ किया जाएगा। साथ ही उन्होंने बुढ़ापा पेंशन तीन हजार रूपये करने की भी घोषणा की

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने ऐलान किया कि सरकार बनते ही किसान और गरीब का सोसाइटी से लिया गया कर्ज माफ किया जाएगा। साथ ही उन्होंने बुढ़ापा पेंशन तीन हजार रूपये करने की भी घोषणा की
post-image
हरियाणा

हरियाणा में स्‍कूलों के दाखिले फार्म को लेकर हुआ विवाद, कांग्रेस ने बताया नस्लीय और धार्मिक रूपरेखा वाला करार दिया है

हरियाणा में स्‍कूलों के दाखिले फार्म को लेकर हुआ विवाद, कांग्रेस ने बताया नस्लीय और धार्मिक रूपरेखा वाला करार दिया है