गुजरात की ओर बढ़ रहा है ओखी तूफान, महाराष्ट्र में सभी स्कूल-कॉलेज बंद

anvnews


मुंबई/अहमदाबाद.दक्षिण भारत के तटीय इलाकों में तबाही मचाने के बाद तूफान ओखी अब गुजरात की ओर बढ़ रहा है। इसके मंगलवार देर रात गुजरात के तटों से टकराने के आसार हैं। वहीं मुंबई और आसपास के इलाकों में हाईटाइड और खराब मौसम को देखते हुए मंगलवार को स्कूल, कॉलेजों में छुट्‌टी घोषित कर दी गई है। महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई के साथ ही सिंधुदुर्ग, ठाणे, रायगढ़ और पालघर जिलों के स्कूल, कॉलेजों को मंगलवार को बंद रखने को कहा है। बीएमसी की डिजास्टर मैनेजमेंट यूनिट ने हाईटाइड को देखते हुए एडवाइजरी जारी कर दी है।

मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह
तूफान दक्षिणी गुजरात के सूरत सहित तटीय इलाकों की ओर बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने मंगलवार देर रात गुजरात के तट से टकराते वक्त तूफान के कमजोर पड़ने की संभावना जाहिर की है। तूफान सूरत के पास समुद्र तट को डीप डिप्रेशन के तौर पर पार कर सकता है। इसे अति भीषण समुद्री चक्रवात की कैटेगरी में रखा गया है। मौसम विभाग ने दक्षिण गुजरात और उत्तरी महाराष्ट्र के समुद्र तटीय इलाकों के लिए चेतावनी जारी की है। इन इलाकों में मछुआरों को समुद्र में ना जाने की सलाह दी गई है। नुकसान को कम से कम करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।
भारी बारिश, तेज हवाएं चलने की चेतावनी

उत्तर गुजरात में 6 दिसंबर को भारी बारिश की संभावना व्यक्त की गई है। उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के समुद्र तटीय इलाकों में 4 दिसंबर की रात से लेकर 6 दिसंबर की सुबह तक 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से लेकर 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की तेज हवाएं चलेंगी। इस वजह से इन इलाकों में समुद्र में ऊंची लहरें उठेंगी। लोगों को समुद्र तट से दूर रहने की सलाह दी गई है। मौसम विभाग ने सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के इलाकों में 5 दिसंबर को भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।
केरल, तमिलनाडु को मदद का भरोसा

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को तमिलनाडु और केरल के मुख्यमंत्रियों से बात की और उन्हें ओखी तूफान से हुए नुकसान को देखते हुए हरसंभव मदद का भरोसा दिया। केरल में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रभावित इलाकों का जायजा लिया। केरल में तूफान के कारण मरने वालों की संख्या 25 हो गई है। लापता मछुआरों की तलाश का काम जारी है।
एनडीआरएफ की टीमों को तटवर्ती इलाकों में तैनात कर दिया गया है। इस बीच इसके प्रभाव से कई इलाकों में बरसात शुरू हो गई है। मंगलवार को वलसाड, सूरत, नवसारी तथा अमरेली, भावनगर, गिर सोमनाथ आदि तटवर्ती जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग ने आगामी 6 दिसंबर तक कई इलाकों में बेमौसम वर्षा की चेतावनी भी जारी की है।

anvnews anvnews anvnews anvnews
anvnews
anvnews