हरियाणा: कैबिनेट सब कमेटी की बैठक में मेयर के कार्यकाल पर हुआ मंथन

हरियाणा: पड़ोसी राज्यों हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ की तर्ज पर हरियाणा में भी नगर निगम के मेयरों और पालिकाओं के चेयरमैनों के कार्यकाल पर मंथन शुरू हो गया है। बता दें कि नगर निगमों के मेयर, नगर परिषद और नगर पालिकाओं के चैयरमैन का चुनाव सीधे नहीं कराया जाएगा, जबकि उनका कार्यकाल तय करने पर भी फैसला बाद में होगा। इससे पहले चंडीगढ़ समेत आस-पास के कुछ राज्यों की स्टडी की जाएगी, जहां इन जन प्रतिनिधियों का कार्यकाल 5 साल से कम है। इस संबंध में कैबिनेट सब कमेटी अपनी रिपोर्ट जल्द सरकार को सौंपेगी।

बुधवार को विज कमेटी की तीसरी बैठक में इस मुद्दे पर अहम चर्चा हुई। वहीं हरियाणा में नगर निगम और मेयर के कार्यकाल पर नजर डाले तो...
नगर निगम और मेयर का कार्यकाल
-हरियाणा में 10 नगर निगम हैं
-नगर निगमों के मेयर का कार्यकाल 5 साल है
-अंबाला-पंचकूला नगर निगमों को भंग करने की बात चल रही है
-कई राज्यों में मेयर का कार्यकाल ढाई साल है
-हरियाणा सरकार भी मेयर का कार्यकाल कम करने पर कर रही विचार

 सरकार के ज्यादातर जनप्रतिनिधि ढ़ाई साल का कार्यकाल करने की मांग कर रहे हैं, जबकि कुछ लोग चंडीगढ़ की तर्ज पर एक-एक साल का कार्यकाल करने की मांग कर रहे हैं। वहीं निगमों के 3 पदों मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर में से एक पद महिला के लिए आरक्षित करने की चर्चा भी चल रही है। वहीं ऐसा मानना है कि मेयरों का कार्यकाल कम किए जाने से कई स्तर पर पारदर्शिता आएगी। 

Videos
हरियाणा