बच्चों को न्यू इयर की बधाई देकर आ रही थी टीचर, हुआ ऐसा दर्दनाक एक्सीडेंट

anvnews

लुधियान : जमालपुर में स्थित डीसीएम प्रेसिडेंसी की आर्ट एंड क्राफ्ट टीचर जिसका नाम कमलप्रीत कौर है उसकी सड़क हादसे में मौत हो गई। जबकि उनके साथ स्कूटर पर जा रही आर्ट एंड क्राफ्ट डिपार्टमेंट की हैड ऑफ डिपार्टमेंट मोनिका गंभीर रूप से जख्मी हो गईं। दोनों ही शुक्रवार को छुट्टी के बाद घर जाने के लिए स्कूल से एक्टिवा पर निकली थी। कमलप्रीत कौर स्कूटर चला रही थी, जबकि मोनिका उनके पीछे बैठीं थी

स्कूल से कुछ ही दूरी पर गोल मार्केट से मेट्रो रोड पर जाने के लिए ट्रैफिक निकलने का इंतजार कर रही थी। सड़क क्रॉस करने के इंतजार में खड़ी स्कूटर सवार टीचरों को पहले तेज रफ्तार से जा रही एक कार ड्राइवर ने साइड मारी, जिस कारण स्कूटर बेकाबू हो गया। तभी कार के पीछे आ रहे टाटा 407 के ड्राइवर ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया। जिस कारण ड्राइवर साइड का टायर कमलप्रीत पर जा चढ़ा, जबकि मोनिका टक्कर के कारण गिर गईं और जख्मी होने के कारण बेहोश हो गईं। आरोपी को लिया हिरासत में. मौके पर मौजूद लोगों ने दोनों को फोर्टिस हॉस्पिटल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने कमलप्रीत को डेड घोषित कर दिया और मोनिका को भर्ती कर लिया।  हादसे में जख्मी होने के कारण मोनिका काफी सहम गई। रोष में आए इलाके के लोगों ने मौके से भाग रहे टाटा 407 के ड्राइवर को पकड़ लिया और उसके साथ मारपीट करते हुए पुलिस के हवाले कर दिया।  मौके पर मौजूद दुकानदार सुरेश कुमार का कहना था कि दोनों लेडीज अपनी तरफ से ठीक आ रही थी और सड़क क्रॉस करने के लिए ट्रैफिक निकलने का इंतजार कर रही थीं। इसी बीच कार व टाटा के ड्राइवर के कारण ही हादसा हुआ है।  मौके पर पहुंचे थाना मोती नगर के एएसआई बलदेव सिंह ने बताया कि मामले में कार्रवाई की जा रही है। जख्मी महिला मोनिका के बयान पर मामला दर्ज किया जा रहा है। मुंडियां के रहने वाले ड्राइवर दुनी राम को हिरासत में लिया गया है।

रोजाना कार से जाती थी कमलप्रीत
 कमलप्रीत के पति इंदरजीत सिंह मर्चेंट नेवी में कैप्टन हैं। उन्होंने बताया कि वह चार या पांच महीने के बाद छुट्टियों पर आते हैं। उनकी बेटी तपलीन 5वीं व बेटा जश्नप्रीत 10वीं कक्षा में इसी स्कूल में पढ़ते हैं।  इंदरजीत सिंह ने बताया कि कमलप्रीत अक्सर कार में ही स्कूल जाती थीं और बच्चों को साथ लेकर आती थीं और रास्ते में मोनिका भी उनके साथ होती हैं।  उन्होंने शुक्रवार को किसी काम से जाना था इसलिए वे बच्चों को खुद ही स्कूल छोड़ आए और कमलप्रीत अपनी सहेली के साथ स्कूटर पर चली गई।

स्कूल में एंडिंग डे मनाने की कर रही थीं तैयारी  साल का आखिर दिन होने के कारण कमलप्रीत ने स्कूल की सभी मैडमों को कहा था कि शनिवार को स्कूल में आखिरी दिन है और सभी टीचर सुंदर से सुंदर ड्रेस पहन कर आएं।  उनकी सहेली ने बताया कि क्या पता था एंडिंग डे मनाने से पहले ही कमलप्रीत दुनिया छोड़कर चली जाएगी।  आर्ट क्राफ्ट से करती थी बच्चों को जागरूक  स्कूल में आर्ट एंड क्राफ्ट के जरिए ही कमलप्रीत बच्चों को ट्रैफिक रूल्स व अन्य रूल्स के बारे में जागरूक करती थीं।  अपने हंसमुख व मिलनसार रवैया के कारण ही स्टूडेंट्स की प्रिय टीचर रहती थी। स्टूडेंट्स ने बताया कि शुक्रवार को मैडम ने उनको हैप्पी न्यू ईयर की एडवांस मुबारक भी दी।

anvnews anvnews anvnews anvnews
anvnews
anvnews