पंजाब कांग्रेस के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शिरोमणि अकाली दाल को मुश्किल में डाला

चंडीगढ़ :पंजाब कांग्रेस के  मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शिअद को घेरने की रणनीति तैयार की है। वह शिअद पर शिकंजा कसने को उसके समय हुए विकास कार्यों को माध्‍यम बनाने की कोशिश में हैं। अब उनके विभाग ने पिछली शिअद-भाजपा सरकार के समय हुए 22,550 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का फोरेंसिक ऑडिट करवाने का फैसला किया है। इसके लिए पहले चरण की जांच में चार इंप्रूवमेंट ट्रस्टों को लिया गया है।

शिअद भाजपा सरकार के समय साढ़े 22 हजार करोड़ के विकास कार्यों की जांच होगी
इसके अलावा तीन नगरपालिकाओं में हुए काम की भी जांच होगी। जांच का जिम्मा जानी मानी कंपनी ग्रांट थ्रोटन को दिया गया है। पहले चरण में कंपनी चार नगर निगमों अमृतसर, जालंधर, लुधियाना और पटियाला , इन्हीं चार के इंप्रूवमेंट ट्रस्ट और तीन नगरपालिकाओं खरड़, जीरकपुर और राजपुरा में सीवरेज, वाटर सप्लाई, एसटीपी आदि के कामों का ऑडिट करेगी।
नवजोत सिंह सिद्धू ने बताया कि कंपनी छह महीने में अपनी पहली रिपोर्ट देगी। शिअद के दस साल के शासनकाल में 22,500 करोड़ रुपये का काम हुआ है। इनमें से पहले चरण में जिस काम का ऑडिट करने को कहा है उसमें 2500 करोड़ का काम हुआ है। स्‍थानीय निकाय विभाग का विजन डाक्यूमेंट पेश करते हुए सिद्धू ने कहा कि हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती बिल्डिंग प्लानों को अप्रूव करना है।

उन्‍होंने कहा कि पिछली सरकार ने इमारतों के नक्शे ही पास नहीं करवाए। अब हमने नक्शों को पास करने का सारा काम ऑनलाइन कर दिया है। विभाग में इम्पैनल आर्किटेक्ट से नक्शा अप्रूव करवाकर ऑनलाइन डाक्यूमेंट ही पेश करने होंगे। फीस भरने के बाद बिल्डिंग का काम पूरा होने तक की जिम्मेवारी आर्किटेक्ट की होगी। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने नक्शे पास नहीं करवाए उन्हें नॉमिनल चार्जेस लगाकर नक्शों को पास करने के लिए भी अधिकारियों को निर्देश दे दिए हैं। 

सिद्धू ने कहा कि सरकार शहरों के लिए नई आउटडोर विज्ञापन पॉलिसी ला रही है। पूर्व सरकार ने इसी में सबसे बड़ा घोटाला किया है। उन्होंने बताया कि हरियाणा में 82 शहर हैं जहां से सरकार को 270 करोड़ की आमदनी होती है। पंजाब में 164 शहर हैं लेकिन यहां सरकार को मात्र 20 करोड़ ही मिलते हैं। इसमें भी अकेले मोहाली से 12 करोड़ आते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली व मुंबई की विज्ञापन नीति को स्टडी किया गया है। उसी को अमल में लाया जाएगा। 

सीवरेज का पानी ट्रीट कर सिंचाई के लिए प्रयोग होगा
सिद्धू ने बताया कि शहरों में सीवरेज का पानी ट्रीट करना ही बड़ी चुनौती है। पंजाब में 64 ट्रीटमेंट प्लांट लगाए गए हैं लेकिन सिर्फ तीन ही चल रहे थे। आठ महीनों में हमने 12 चलवा दिए हैं और इस साल तक के अंत तक 40 चला दिए जाएंगे। सीवरेज के पानी को ट्रीट करके पानी को सिंचाई के लिए प्रयोग किया जाएगा जबकि नहरी पानी को पीने के लिए यूज किया जाएगा।

लुधियाना निगम का चुनाव फरवरी के पहले हफ्ते, मेयर के लिए रोटेशन पर विचार सिद्धू ने बताया कि लुधियाना नगर निगम का चुनाव फरवरी के पहले हफ्ते करवाने की योजना है। हमारी ओर से तैयारियां हो चुकी हैं। चुनाव होते ही सभी नगर निगमों में मेयरों का चयन कर लिया जाएगा। सिद्धू ने संकेत दिए कि मेयरशिप के लिए सभी वर्गों को प्रतिनिधित्व देने के लिए चंडीगढ़ की तर्ज पर रोटेशन में मेयर लगाने पर भी विचार किया जा रहा है।

Videos
पंजाब
post-image
पंजाब

कांग्रेस से नवजोत सिद्धू चुनाव लड़ेंगे? पत्नी ने कहा 'कोई भी लड़े लेकिन भूमिका साफ होनी चाहिए'

कांग्रेस से नवजोत सिद्धू चुनाव लड़ेंगे? पत्नी ने कहा 'कोई भी लड़े लेकिन भूमिका साफ होनी चाहिए'
post-image
पंजाब

सिद्धू के कांग्रेस में जाने से पंजाब में राजनीतिक समीकरण बदलेंगे? क्या कहते हैं जानकार

सिद्धू के कांग्रेस में जाने से पंजाब में राजनीतिक समीकरण बदलेंगे? क्या कहते हैं जानकार
post-image
पंजाब

जहां से पार्टी कहेगी, वहां से चुनाव लडूंगा, ये मेरी 'घरवापसी'- कांग्रेस में शामिल होने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू

जहां से पार्टी कहेगी, वहां से चुनाव लडूंगा, ये मेरी 'घरवापसी'- कांग्रेस में शामिल होने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू
post-image
पंजाब

टिकट बंटवारे में अनदेखी से नाराज़ पंजाब BJP अध्‍यक्ष विजय सांपला ने की इस्‍तीफे की पेशकश

टिकट बंटवारे में अनदेखी से नाराज़ पंजाब BJP अध्‍यक्ष विजय सांपला ने की इस्‍तीफे की पेशकश
post-image
पंजाब

पंजाब चुनाव में मचा घमासान, पढ़ें चुनावी अखाड़े का हर अपडेट, कांग्रेस की आखिरी लिस्ट जारी

पंजाब चुनाव में मचा घमासान, पढ़ें चुनावी अखाड़े का हर अपडेट, कांग्रेस की आखिरी लिस्ट जारी