कासगंज में फिर से भड़की हिंसा ,दूसरे दिन भी नहीं थमी

कासगंज : गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा यात्रा पर पथराव को लेकर भड़की हिंसा में कासगंज दो दिन से जल रहा है। आज भी यह आग ठंडी नहीं हो पाई बल्कि देर रात और भड़क गई। अलग-अलग तोड़फोड़, आगजनी और पथराव की वारदातें होती रहीं। रुक रुक कर अलग-अलग इलाकों में उपद्रव से पुलिस-प्रशासन परेशान रहा। शनिवार देर रात छर्रा अड्डा के पास बिलराम चौराहा पर फायरिंग से माहौल बिगड़ गया। नदरई कस्बे में कबाड़े की सूमो और स्कार्पियो फूंक दी गई। सोरों कस्बे में डाकखाने के पास कपडे की दुकान को आग के हवाले किया गया। मोहल्ला मोहन में पेट्रोल बम बरामद किया गया। ख़ुफ़िया सूचना पर रेलवे स्टेशन पर मुस्तैदी बढ़ा दी गई। पुलिस अधिकारी भारी फ़ोर्स के साथ सघन जांच में जुटे हैं लेकिन कुछ भी काबू में नहीं दिखाई दे रहा है।

युवक की मौत से बवाल बढ़ा दरअसल, गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के दौरान समुदाय विशेष ने वंदे मातरम का विरोध कर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। जिसके बाद पथराव और फायरिंग में एक युवक की मौत हो गई, दो घायल हुए। कई पुलिसकर्मियों समेत एक दर्जन लोग जख्मी हुए हैं। इसके बाद सांप्रदायिक हिंसा की आग ने पूरे कासगंज को अपनी चपेट में ले लिया। शहर में दूसरे दिन भी हालात काबू में नहीं आ सके। अब तक कई वाहन और दुकानें आग के हवाले की जा चुकी है। धर्मस्थलों को भी उपद्रवियों ने निशाना बनाया। स्थिति को काबू करने के लिए पीएसी और आरएएफ ने मोर्चा संभाल लिया है। जिले की सीमाएं सील कर दी गई हैं। 

Videos
उत्तर प्रदेश
post-image
उत्तर प्रदेश

पार्टी दफ्तरों में मिलाने के मामले में प्रदेश सरकार को 26 सितंबर तक अपना पक्ष रखने के लिए कहा

पार्टी दफ्तरों में मिलाने के मामले में प्रदेश सरकार को 26 सितंबर तक अपना पक्ष रखने के लिए कहा