दुर्लभ खगोलीय घटना : सुपरमून, ब्ल्यूमून और पूर्ण चंद्र ग्रहण देखा गया दीक्षांत स्कूल के प्लेनेटेरियम में जीरकपुर, 31 जनवरी, 2018:

दीक्षांत इंटरनेशनल स्कूल, जीरकपुर में स्थित फिक्स्ड डोम प्लेनेटेरियम में छात्रों और अंतरिक्ष में दिलचस्पी रखने वाले लोगों ने सुपरमून या ब्ल्यूमून कही जा रही, 150 वर्षों में एक बार होने वाली एक दिव्य घटना, को करीब से देखा।  अंतरिक्ष की यह घटना दुुर्लभ थी। इसे सुपरमून कहा गया, जब चंद्रमा पृथ्वी के सबसे नजदीक था और आकार में बड़ा दिखा। इसे ब्ल्यूमून कहा गया, जब वायुमंडल में उपस्थित धूल कणों की उपस्थिति के कारण चांद का रंग नीला दिखा, और इसे पूर्ण चंद्र ग्रहण कहा गया, जब चंद्रमा पृथ्वी की छाया के केंद्र से होकर गुजरा। ये सभी नजारे अद्भुत थे। दीक्षांत इंटरनेशनल स्कूल, जीरकपुर के परिसर में स्थापित प्लेनेटेरियम के जरिये ट्राईसिटी के लोगों को इस अनूठी घटना को देखने का सौभाग्य मिल सका। इंटर यूनिवर्सिटी सेंटर फॉर एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स (आईयूसीसीए), पुणे के सहयोग से इसकी स्थापना वर्ष 2016 में की गयी थी।

 'दीक्षांत इंटरनेशनल स्कूल में ट्राईसिटी का एकमात्र तारामंडल या प्लेनेटेरियम है। इस पूरे रीजन में किसी सरकारी संस्थान में भी यह सुविधा उपलब्ध नहीं है। हमारा प्लेनेटेरियम पूरी तरह से उन्नत सुविधाओं से युक्त है, जैसे 1,20,000 उज्ज्वल सितारों को पेश करने की क्षमता वाला हाई-डेफिनिशन प्रोजेक्शन, साथ में ज़ूमिंग, अंदर ही फिट ऑडियो सिस्टम, आदि। दीक्षांत लगातार अंतरिक्ष विज्ञान में सक्रिय है और यह आयोजन अंतरिक्ष का शानदार और असली रूप दर्शाने के लिए किया गया था, जिसमें बाहरी अंतरिक्ष की जटिल गतियों को प्रस्तुत किया गया, ' दीक्षांत इंटरनेशनल स्कूल के चेयरमैन, मितुल दीक्षित ने कहा। अधिकतर लोग इस दुर्लभ घटना का आनंद ले सकें, इसके लिए तारामंडल में प्रवेश नि:शुल्क था। सिर्फ पहले से पंजीकरण कराना अनिवार्य था। जैसे अंधेरा होने लगा, अंतरिक्ष उत्साही लोग बड़ी संख्या में इक_ा होने लगे, ताकि यह दुर्लभ खगोलीय घटना देख सकें। कार्यक्रम में छात्रों और उनके माता-पिता के अलावा विभिन्न क्षेत्रों के लोग मौजूद थे। इस खगोलीय घटनाओं को लेकर  छात्र काफी उत्साहित थे। 'यह वास्तव में एक बेजोड़ अनुभव था। जो कुछ हम किताबों में पढ़ रहे हैं या कक्षा में सीख रहे हैं, उसे हम साक्षात भी देख पा रहे थे, ' दीक्षांत इंटरनेशनल स्कूल के दसवीं कक्षा के एक छात्र सात्विक वशिष्ठ ने कहा। 

तारामंडल बड़े गुंबद के आकार का एक प्रोजेक्शन स्क्रीन होती है, जिसमें सितारों, ग्रहों और अन्य खगोलीय पिंडों के दृश्य दिखाई देते हैं। यह खगोल विज्ञान सीखने का सबसे अच्छा तरीका है, जिसे सभी विज्ञानों की जननी माना जाता है। 

Videos
पंजाब
post-image
पंजाब

हरियाणा और पंजाब सहित पूरे उत्तर भारत में जहरीली हवा का कहर, पंजाब में प्राकृतिक आपदा घोषित

हरियाणा और पंजाब सहित पूरे उत्तर भारत में जहरीली हवा का कहर, पंजाब में प्राकृतिक आपदा घोषित
post-image
पंजाब

Punjab : नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा की, STF रिपोर्ट आने पर बढ़ सकती हैं बिक्रम सिंह मजीठिया की मुश्किलें

Punjab : नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा की, STF रिपोर्ट आने पर बढ़ सकती हैं बिक्रम सिंह मजीठिया की मुश्किलें
post-image
पंजाब

पूर्व सैनिकों ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह से की मांग ,कहा की कम किए जाएं शराब के दाम

पूर्व सैनिकों ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह से की मांग ,कहा की कम किए जाएं शराब के दाम
post-image
पंजाब

Punjab: शहर में आवारा कुत्तों की आतंक बढ़ता जा रहा है , 6 साल की मासूम बच्ची को नोच-नोच कर उतारा मौत के घाट

Punjab: शहर में आवारा कुत्तों की आतंक बढ़ता जा रहा है , 6 साल की मासूम बच्ची को नोच-नोच कर उतारा मौत के घाट
post-image
पंजाब

Punjab: एक बाप ने की शर्मनाक हरकत कुछ घंटों की नवजात के साथ किया कुछ ऐसा, जान कर रहे जायेंगे हैरान

Punjab: एक बाप ने की शर्मनाक हरकत कुछ घंटों की नवजात के साथ किया कुछ ऐसा, जान कर रहे जायेंगे हैरान
post-image
पंजाब

नाबालिग लड़की ने बच्ची को दिया जन्म, उसके बाद हुआ खुलासा की दुष्कर्म करने वाला उसी का बाप और अंकल

नाबालिग लड़की ने बच्ची को दिया जन्म, उसके बाद हुआ खुलासा की दुष्कर्म करने वाला उसी का बाप और अंकल
post-image
पंजाब

Punjab : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिले नवजोत सिंह सिद्धू , कहा- मेरा सारा जीवन कांग्रेस को समर्पित

Punjab : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिले नवजोत सिंह सिद्धू , कहा- मेरा सारा जीवन कांग्रेस को समर्पित
post-image
पंजाब

पंजाब बोर्ड के 10th की परीक्षा देने वाले छात्रों का इंतजार खत्म, आज जारी हो सकता है बोर्ड का रिजल्ट

पंजाब बोर्ड के 10th की परीक्षा देने वाले छात्रों का इंतजार खत्म, आज जारी हो सकता है बोर्ड का रिजल्ट