रंगीलो राजस्थान फूड फेस्टिवल शुरू, प्रस्तुत हैं महाराजाओं की भूमि- राजस्थान के असली व्यंजन

ट्राईसिटी के भोजन प्रेमियों के लिए एक अच्छी खबर है। महाराजाओं की भूमि- राजस्थान के असली व्यंजनों के साथरंगीलो राजस्थान फूड फेस्टिवलवैल्कमहोटल बैला विस्टासेक्टर 5, पंचकूला में शुरू हो गया है। अब राजस्थानी भोजन के शौकीन लोगइस बुटीक होटल की शाही सेटिंग में अपने मनपसंद व्यंजनों का आनंद ले सकते हैं। फेस्टिवल 2 फरवरी से 11 फरवरी, 2018 तक चलेगा। यह उत्सव अद्वितीय है क्योंकि इसका मैन्यू तैयार किया है राजस्थानी पाक कला में माहिरशेफ हनुमान प्रताप सिंह नेवैल्कमहोटल जोधपुर से आये हैं। उनके व्यंजनों में जो खाद्य सामग्री प्रयोग की गयी हैवो विशेष रूप से राजस्थान के बंजर इलाकों में पायी जाती है।

उल्लेखनीय है कि श्री हनुमान प्रताप सिंह आईटीसी मौर्य में आयोजित रॉयल फूड फेस्टिवल का हिस्सा रह चुके हैं और उन्होंने वैल्कमहोटल जोधपुर में राजस्थानी भोजन परंपरा प्रारंभ करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। राजस्थानी भोजन उत्सव के उद्घाटन के अवसर पर शेफ हनुमान ने कुछ लाजवाब व्यंजनों का लाइव प्रदर्शन भी किया।

रंगीलो राजस्थान फूड फेस्टिवल का मेन्यू तैयार करने में शेफ हनुमान और उनकी टीम ने बड़े जतन से एक संतुलन कायम करने की कोशिश की हैताकि शाकाहारी और गैर-शाकाहारी भोजन प्रेमियों की रुचियों का ख्याल रहे। शाकाहारी स्टार्टर में मूंग दाल कबाबसांगरी के कबाब और पनीर के सूले आदि शामिल हैंतो गैर-शाकाहारी स्टार्टर मेन्यू में राय की मच्छीचरखा मर्ग और मास के सूले आदि प्रमुख हैं। शाकाहारी और गैर-शाकाहारी दोनों के मुख्य भोजन के मेन्यू में तो बहुत कुछ है। इसके गैर-शाकाहारी मेन्यू में मच्छी रामगढ़ी सेमुर्ग की मोकल से लेकर लाल मास और सफेद मास तक मौजूद है। शाकाहारी मेन कोर्स में पनीर मेथी दानाचक्की का सागकेर सांगरी अचारीत्रिपोलिया सब्ज़ी आदि प्रमुख हैं। इसके अलावाराजस्थानी डेजर्ट में चूरमामिस्री मावाराजभोगमलाई घेव और मालपुआ का आनंद लिया जा सकता है। रोटियां भी सामान्य नहीं हैं। इनमें बेजदकी रोटी और मेथी की रोटी शामिल हैं। फिर राजस्थान की प्रसिद्ध बाटी दालमूंग मोगार जयपुरी और गट्टा पुलाव जैसे प्रसिद्ध व्यंजन भी मेन्यू में मौजूद हैं।

 

मीडिया से बात करते हुएशेफ श्री हनुमान प्रताप सिंह ने कहा, ‘यह होटल ट्राईसिटी के लोगों को राजस्थानी व्यंजन पेश करने के लिए एक आदर्श स्थल के रूप में कार्य कर रहा है। फेस्टिवल के दौरानमैं न केवल रसोई में टीम का मार्गदर्शन करूंगाबल्कि लोगों को राजस्थानी भोजन की जड़ों के बारे में भी जागरूक करूंगा। राजस्थानी भोजनयुद्धों और विशाल बंजर क्षेत्रों से बहुत प्रभावित है। इस सबके बावजूदराजस्थानी भोजन को दुनिया भर के लोगों का जो प्यार मिलता हैवह इसके स्वाद की बेमिसाल गुणवत्ता को साबित करता है।

श्री विवेक खन्नामहाप्रबंधकवेलकमहोटल बेला विस्टाने कहा, ‘हमारे होटल की योजना है कि हम ट्राईसिटी के भोजन प्रेमियों के शानदार स्वाद की खातिर संपूर्ण भारत के  प्रामाणिक व्यंजन यहां प्रस्तुत करेंगे। हमने हाल ही में एक कश्मीरी फूड फैस्टिवल आयोजित किया था और इस राजस्थानी फूड फैस्टिवल के बाद हम एक एक्सोटिक सिजलर एक्स्ट्रावेगेंज़ाएक जिलाटो फेस्टिवल और एक वाइन फेस्टिवल भी लेकर आयेंगे।

होटल में उपलब्ध क्लासिक वातावरण और प्रीमियम डाइनिंग विकल्प इस तरह के अनूठे आयोजनों के लिए एकदम उपयुक्त हैं।

श्री डीआर मनोहरएक्जीक्यूटिव शेफवैल्कमहोटल बेला विस्टा ने कहा, ‘राजस्थानी व्यंजन समृद्ध खाद्य संस्कृति के साथ-साथ महाराजाओं के राज्य की विरासत को दर्शाते हैं और यह फेस्टिवलट ट्राईसिटी वासियों को पारंपरिक अंदाज में मूल राजस्थानी भोजन का स्वाद पाने के लिए एक महान अवसर प्रदान करेगा।

उल्लेखनीय है कि वैल्कमहोटल बेला विस्टा को हाल ही में हरियाणा सरकार द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत पंचकूला में सर्वश्रेष्ठ होटल के रूप में सम्मानित किया गया है और मेकमाईट्रिप ने इसे ट्राईसिटी में अपस्केल चेन होटल की श्रेणी में कंस्टमर च्वाइस अवार्ड दिया है।

Videos
पंजाब
post-image
पंजाब

पीजीआई चंडीगढ़ की न्यू ओपीडी में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए गठित कमेटी ने उठया ये कदम

पीजीआई चंडीगढ़ की न्यू ओपीडी में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए गठित कमेटी ने उठया ये कदम