कांग्रेस का खजाना भरने को रणनीति तैयार, सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने किया खुलासा

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी का खजाना जल्दी भरेगा। इसके लिए कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू  ने रणनीति तैयार कर ली है। हालांकि, वह अभी अपनी रणनीति का खुलासा नहीं कर रहे। 
हिमाचल कांग्रेस का कोष लगभग खाली हो चुका है। इससे कांग्रेस पार्टी को स्टाफ का वेतन निकालना तक मुश्किल हो गया है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी का एक महीने का खर्चा कम से कम डेढ़ लाख रुपये है। 

इस खर्च में कर्मचारियों का वेतन, कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय राजीव भवन शिमला के बिजली बिल, लीज मनी आदि तमाम तरह के खर्चों को शामिल किया गया है। पार्टी के पास जो भी जमा-पूंजी है, वह करीब-करीब सारी खर्च हो चुकी है। कांग्रेस के विधायक, पूर्व मंत्री-विधायक और तमाम अन्य नेताओं से अंशदान नहीं मिल रहा है। कांग्रेस हाईकमान से भी कोई मदद नहीं आ रही है। जब हिमाचल में कांग्रेस पार्टी सत्ता में थी, तब भी यही हाल था। प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के टिकटों के लिए आए सैकड़ों आवेदनों के साथ 50 लाख रुपये से अधिक रकम एकत्र हुई थी। इस पैसे से पार्टी ने प्रॉपर्टी टैक्स, लीज मनी आदि की पुरानी देनदारियां चुकाईं। 

कुछ महीने तक का खर्च चलता रहा, लेकिन अब कुछ महीनों से स्थिति बहुत दयनीय बनी हुई है। सुक्खू ने स्वीकार किया है कि कांग्रेस के खजाने की स्थिति आने वाले दिनों में अच्छी हो जाएगी। खजाना भर जाएगा। इसके लिए वे एक रणनीति पर काम कर रहे हैं। अभी इसका खुलासा नहीं हो पाएगा। 

Videos
हिमाचल प्रदेश
post-image
हिमाचल प्रदेश

प्रदेश हाईकोर्ट ने बसपा नेता केदार सिंह जिंदान की हत्या से जुड़े मामले में सरकार को नोटिस जारी कर दिए

प्रदेश हाईकोर्ट ने बसपा नेता केदार सिंह जिंदान की हत्या से जुड़े मामले में सरकार को नोटिस जारी कर दिए
post-image
हिमाचल प्रदेश

‘इससे फर्क नहीं पड़ता, आदमी कहां बैठा है, पथ पर या रथ पर, तीर पर या प्राचीर पर:अटल बिहारी वाजपेयी

‘इससे फर्क नहीं पड़ता, आदमी कहां बैठा है, पथ पर या रथ पर, तीर पर या प्राचीर पर:अटल बिहारी वाजपेयी