हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक आज, नई कपड़ा नीति पर लगेगी मोहर

आज हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में नई टैक्सटाइल पॉलिसी, एग्र्री बिजनैस एंड फूड प्रोसैसिंग पॉलिसी तथा हरियाणा बायो एनर्जी पॉलिसी को मंजूरी प्रदान की जा सकती है। कपड़ा नीति में खादी को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा खादी संस्थानों को मामूली दरों पर रिटेल स्पेस को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन स्थलों, हवाई अड्डों तथा रिटेल हब जैसे स्थानों का इस्तेमाल करने पर भी जोर दिया जाएगा। इसके अलावा मंत्रिमंडल की बैठक में गुरुग्राम व मानेसर को छोड़कर बाकि जिलों में कमर्शियल कॉलोनियों के लिए लाइसैंस देने की प्रक्रिया में राहत प्रदान की जा सकती है। लोक सेवा के नियमों में भी बदलाव किया जा सकता है। इसके अलावा पत्रकारों की पैंशन के संदर्भ में कुछ नियमों में संशोधन हो सकता है।
 
वहीं, हरियाणा के कुछ मंत्रियों के ऐतराज के चलते मंत्रिमंडल की बैठक में आने वाली आबकारी नीति अब अगली बैठक पर जाकर रुक गई है, क्योंकि नई पॉलिसी में एक सरकारी कम्पनी बनाकर शराब बेचने का प्रस्ताव था लेकिन मंत्रियों की राय थी कि इस नीति के चलते पूरे देश में सरकार को बदनामी का दंश झेलना पड़ सकता है। यह बात ऊपर पार्टी हाईकमान तक भी पहुंचा दी गई जिसके चलते अब इस योजना पर ब्रेक लग गया है। 

आबकारी व कराधान मंत्री सारा दिन इस संदर्भ में विभाग के अधिकारी के साथ बैठकें करते रहे जिसके चलते माना जा रहा था कि आज की बैठक में नई आबकारी नीति पर स्वीकृति की मोहर लगेगी लेकिन जब मंगलवार को होने वाली बैठक का एजैंडा जारी हुआ तो उसमें आबकारी नीति का एजैंडा नहीं था। माना जा रहा है कि नई आबकारी नीति के लिए अब 3 मार्च को मंत्रिमंडल की बैठक दोबारा बुलाई जा सकती है और उसके बाद ही नई नीति जारी होगी। इसके अलावा नई फिल्म नीति भी इस बार के एजैंडे में शामिल नहीं है, जबकि सम्भावना थी कि इस बार मंत्रिमंडल की बैठक में नई फिल्म नीति पर मोहर लगेगी लेकिन नई आबकारी नीति के साथ-साथ नई फिल्म नीति अगली बैठक में आएगी।

Videos
हरियाणा
post-image
हरियाणा

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने ऐलान किया कि सरकार बनते ही किसान और गरीब का सोसाइटी से लिया गया कर्ज माफ किया जाएगा। साथ ही उन्होंने बुढ़ापा पेंशन तीन हजार रूपये करने की भी घोषणा की

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने ऐलान किया कि सरकार बनते ही किसान और गरीब का सोसाइटी से लिया गया कर्ज माफ किया जाएगा। साथ ही उन्होंने बुढ़ापा पेंशन तीन हजार रूपये करने की भी घोषणा की
post-image
हरियाणा

हरियाणा में स्‍कूलों के दाखिले फार्म को लेकर हुआ विवाद, कांग्रेस ने बताया नस्लीय और धार्मिक रूपरेखा वाला करार दिया है

हरियाणा में स्‍कूलों के दाखिले फार्म को लेकर हुआ विवाद, कांग्रेस ने बताया नस्लीय और धार्मिक रूपरेखा वाला करार दिया है