अफसरों को सीएम योगी आदित्यनाथ का सख्त आदेश, हर एमओयू की तय होगी समय सीमा

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को निर्देश दिया है कि इन्वेस्टर्स समिट में हुए 4.28 लाख करोड़ के एमओयू की समय सीमा तय करें। इसके क्रियान्वयन के लिए जो कार्यवाही अधूरी है, उसे पूरा किया जाए। विभाग इसके लिए व्यक्तिगत जिम्मेदार होंगे। उन्होंने सोमवार को मुख्य सचिव राजीव कुमार व एमओयू से जुड़े 40 विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव या सचिव स्तर के अफसरों के साथ बैठक में निर्देश दिए।
अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त डॉ. अनूप चंद्र पांडेय ने बताया कि बैठक में एमओयू को धरातल पर उतारने को लेकर चर्चा हुई। जिन विभागों के यहां अभी नीति नहीं बनी है, सीएम ने उन्हें मार्च तक नीतियां बनाने के निर्देश दिए। जिन विभागों में नीतियां बन गई हैं उन्हें 15 दिन के अंदर शासनादेश जारी करने को कहा गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से कहा है कि उद्योगों को नीतियों के अनुसार ही सुविधाएं दी जाएं। नीति से हटकर केस टू केस बेसिस की प्रक्रिया से बचा जाए। मुख्यमंत्री इन्वेस्टर्स समिट व इसके बाद हुए एमओयू के क्रियान्वयन की रणनीति को लेकर सोमवार को आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे। यहां मुख्य सचिव राजीव कुमार ने समिट के संबंध में रिपोर्ट पेश की। आईआईडीसी अनूप चंद्र पांडेय ने प्रजेंटेशन के जरिए प्रस्तावित नीतियों की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने लैंड बैंक सृजन के कार्य को प्राथमिकता पर पूरा कराने के निर्देश दिए। उन्होंने अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों व सचिवों को अपने-अपने विभाग से संबंधित नीति के अनुसार निवेशकों की जिज्ञासाओं का तेजी से समाधान कर एमओयू पर अमल कराने को कहा।

मुख्यमंत्री के सामने डिफेंस कॉरिडोर की विस्तृत योजना तथा ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के लिए रोड कटिंग के संबंध में भी प्रजेंटेशन हुआ। नवीकरणीय ऊर्जा सेक्टर में यूपीनेडा किस प्रकार निजी क्षेत्र से निवेश आकर्षित कर सकता है, इसकी भी जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री ने बुंदेलखंड तथा पूर्वांचल में अधिकाधिक निवेश आकर्षित करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना व वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल भी उपस्थित थे।
 
अगले साल ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट
मुख्यमंत्री ने अगले साल ‘ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट’ कराने का एलान किया है। उन्होंने इंवेस्टर्स समिट के सफल आयोजन के लिए सभी को बधाई देते हुए कहा कि ग्लोबल समिट भी इसी तरह टीम भावना से कराना होगा।

Videos
उत्तर प्रदेश
post-image
उत्तर प्रदेश

पार्टी दफ्तरों में मिलाने के मामले में प्रदेश सरकार को 26 सितंबर तक अपना पक्ष रखने के लिए कहा

पार्टी दफ्तरों में मिलाने के मामले में प्रदेश सरकार को 26 सितंबर तक अपना पक्ष रखने के लिए कहा