उड़न खटोले में दुल्हनिया को लाया किसान का बेटा

पानीपत में एक पिता ने अपने सपने को कुछ इस तरह पूरा किया कि पूरा गांव देखता ही रह गया. बापौली गांव के जेल सिंह की इच्छा थी कि उसके बेटे की दुल्हनिया उड़खटोले पर आए और हुआ भी कुछ ऐसा. जेल सिंह का बेटा और बहू को दोनों हैलीकॉप्टर से अपने गांव आए और इनको देखने के लिए पूरा गांव उमड़ पड़ा.

जेल सिंह किसान है और रवि उनका इकलौता बेटा है. रवि एलएलबी का छात्र हैं और दुल्हन पूनम ग्रेजुएट है. वहीं जेल सिंह अपनी खुशी से फुला नहीं समा रहे थे. उन्होंने कहा कि उन्होंने पाई-पाई जोड़ कर अपने सपने को पूरा किया है. दुल्हे के पिता जेल सिंह का कहना है कि आज मेरा सपना पूरा हो गया जब मेरे बेटे की दुल्हन हेलीकॉप्टर से आई. मुझे अपने बेटे की शादी का सपना पूरा होने की इतनी खुशी है कि मैं बयां नहीं कर सकता. उसने बताया कि बेटी की दुल्हन हेलीकाप्टर से ला सकूं, इसके लिए मैने उसी दिन से बचत करना शुरु कर दिया था जो समय पर काम आ सकी. अपने दुल्हे के साथ उड़खटोले में अपने ससुराल पहुंची पूनम बेहद खुश है. वहीं रवि भी अपने पिता के सपने को पूरा होते देख खुश नजर आया. माता-पिता के साथ पूरे गांव ने नवविवाहित जोड़े को शादी की शुभकामनाएं दी.


Videos
हरियाणा
post-image
हरियाणा

सोशल मीडिया ग्रीवेंसेज ट्रैकर पर आई वीडियो पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने लिया एक्शन,4 ससपेंड

सोशल मीडिया ग्रीवेंसेज ट्रैकर पर आई वीडियो पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने लिया एक्शन,4 ससपेंड
post-image
हरियाणा

हरियाणा के नेता अभय चौटाला बोले कि सरकार पाकिस्तान का पानी रोकने के बजाय एसवाइएल का निर्माण कराए

हरियाणा के नेता अभय चौटाला बोले कि सरकार पाकिस्तान का पानी रोकने के बजाय एसवाइएल का निर्माण कराए
post-image
हरियाणा

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने ऐलान किया कि सरकार बनते ही किसान और गरीब का सोसाइटी से लिया गया कर्ज माफ किया जाएगा। साथ ही उन्होंने बुढ़ापा पेंशन तीन हजार रूपये करने की भी घोषणा की

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने ऐलान किया कि सरकार बनते ही किसान और गरीब का सोसाइटी से लिया गया कर्ज माफ किया जाएगा। साथ ही उन्होंने बुढ़ापा पेंशन तीन हजार रूपये करने की भी घोषणा की
post-image
हरियाणा

हरियाणा में स्‍कूलों के दाखिले फार्म को लेकर हुआ विवाद, कांग्रेस ने बताया नस्लीय और धार्मिक रूपरेखा वाला करार दिया है

हरियाणा में स्‍कूलों के दाखिले फार्म को लेकर हुआ विवाद, कांग्रेस ने बताया नस्लीय और धार्मिक रूपरेखा वाला करार दिया है