अलग झंडा पाने वाला कर्नाटक नहीं होगा अकेला राज्य,अलग झंडा पाने वाला कर्नाटक नहीं होगा अकेला राज्य, इस प्रदेश के पास पहले से है अलग फ्लैग

 कर्नाटक विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने गुरुवार 08 मार्च को राज्य के लिए प्रस्तावित आधिकारिक झंडा पेश किया. राज्य सरकार द्वारा गठित एक समिति ने पिछले साल कर्नाटक के लिए पृथक झंडे की सिफारिश की थी. इसे मंजूरी के लिए केंद्र सरकार के पास भेजा जाएगा. यदि कर्नाटक को राज्य के झंडे की मंजूरी मिल जाती है तो वो अकेला ऐसा प्रदेश नहीं होगा जिसका अपना अलग झंडा होगा. भारत में पहले से एक राज्य है, जिसके पास खुद का अलग झंडा है.

भारत का राज्य जम्मू-कश्मीर इकलौता ऐसा राज्य है जिसके पास अपना अलग झंडा है. प्रदेश में भारत के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के साथ ही राज्य का झंडा भी फहराया जाता है.

जम्मू-कश्मीर के झंडे की गहरी लाल पृष्ठभूमि श्रम की परिचायक है. इसके ऊपर बना हल कृषि को दर्शाता है. झंडे पर सफेद रंग की तीन सीधी धारियां बनी हुई हैं. ये धारियां राज्य के तीन भूभागों, जम्मू, कश्मीर घाटी और लद्दाख का प्रतिनिधित्व करती हैं. जम्मू और कश्मीर भारत का एकमात्र राज्य है, जिसे अपने राज्य का अलग झंडा फहराने का अधिकार प्राप्त है. ऐसा इसलिए क्योंकि इस राज्य को भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 अंतर्गत विशेष राज्य का दर्जा मिला हुआ है. हालांकि, जम्मू और कश्मीर का अलग झंडा होना कई बार विवादों में आ चुका है. कई बार राज्य के अलग झंडे का विरोध करते हुए ये तर्क दिया गया कि एक ही देश का हिस्सा होते हुए भी जम्मू-कश्मीर को अलग झंडा फहराने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए. ये मामला कई बार कोर्ट में भी उठाया जा चुका है.कर्नाटक के पास पहले से था अलग झंडा

अलग झंडे की मांग कर रहे कर्नाटक के पास 1960 से ही एक अलग झंडा था. 2012 में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने इस झंडे को कानूनी मान्यता दे दी थी. लेकिन एक कानूनी लड़ाई के बाद सरकार को अपने कदम वापस खींचने पड़े थे. उस वक्त सरकार ने कर्नाटक हाईकोर्ट में कहा था कि वह कर्नाटक के लिए लाल और पीले  रंग के झंडे को नहीं अपना सकती है क्योंकि एक अलग झंडा देश की एकता और अखंडता के खिलाप होगा.

Videos
देश
post-image
देश

भारतीय सेना द्वारा किये गये सर्जिकल स्ट्राइक को अब दिवस के रूप में मनाने के दिये गये आदेश

भारतीय सेना द्वारा किये गये सर्जिकल स्ट्राइक को अब दिवस के रूप में मनाने के दिये गये आदेश