Wednesday , June 12 2024
Breaking News

सरदार सुखबीर सिंह बादल ने दिल्ली की पार्टियों को पंजाब से बाहर करने का आहवाहन किया……

अजनाला/मजीठा। शिरोमणी अकाली दल की पंजाब बचाओ यात्रा को बीते कल इन हलकों में जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली और पार्टी अध्यक्ष सरदार सुखबीर सिंह बादल ने कठपुतली मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान सहित दिल्ली स्थित सभी पार्टियों को बाहर कर और शिरोमणी अकाली दल में भरोसा रखने का आहवाहन किया, जो पंजाबियों की आकांक्षाओं का सबसे अच्छा प्रतिनिधित्व करती है। अकाली दल अध्यक्ष ने चल रही पंजाब बचाओ यात्रा के दौरान अजनाला और मजीठा में कहा, ‘‘ हम लोगों को इस सिख विरोधी और पंजाब विरोधी आम आदमी पार्टी सरकार की सच्चाई बताने आए हैं, जिसने पंजाबियों को सभी मोर्चों पर धोखा दिया है। हम न केवल आप सरकार के कुशासन का पर्दाफाश करेंगें, जिसके विधायक ड्रग्ज के तस्करों से मिले हुए हैं और अवैध रेत खनन कार्य चला रहे हैं, बल्कि जिस तरह से किसानों , नौजवानों, महिलाओं , अनुसूचित जाति और व्यापार और उद्योग के साथ भेदभाव किया जा रहा है, उसे भी बेनकाब करेंगें तथा कहा कि पंजाबियों का आम आदमी पार्टी और कठपुतली मुख्यमंत्री से हर तरह से विश्वास खत्म हो गया है’’।

अजनाला में बोलते हुए जहां यह घोषणा भी की गई कि एसजीपीसी सदस्य जोध सिंह समरा हलके के नए हलका इंचार्ज होंगें, सरदार बादल ने कहा, ‘‘ मैं चल रही यात्रा के दौरान लिंक सड़कों और सीवरेज बुनियादी ढ़ांचे की स्थिति देख रहा हूं, जो कि तहस-नहस हो चुका है, लेकिन मुख्यमंत्री केवल अपने बाॅस अरविंद केजरीवाल को एक राज्य से दूसरे राज्य में ले जाने के लिए करोड़ों रूपये खर्च करने में रूचि रखते हैं। उन्होने कहा कि इसके अलावा तुच्छ नौटंकी और विज्ञापनों में व्यस्त हैं जिससे पिछले दो सालों में राज्य को 1500 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ है’’। सरदार बादल ने रास्ते में कई जगहों पर किसानों से बातचीत की। उन्हे वे इस बात से बेहद परेशान हैं कि उन्हे दो फसल की बर्बादी का मुआवजा नही मिला है। उन्होने बताया कि कैसे दालों और मक्के के लिए मुख्यमंत्री के आश्वासन के बावजूद एमएसपी नही दिया जा रहा है। यह यात्रा बदलाव का समर्थन करने के लिए सभी क्षेत्रों के लोगों के साथ इतिहास रचने को तैयार है। ऐसा  केसरी काफिला कभी नही देखा गया कि उठो वे शेर पंजाबियों पंजाब बचा लो के सुरों के बीच सड़कें, कस्बे और गांव केसरी का सैलाब बन गए। मजीठा के दृश्यों ने आपातकाल विरोधी लहर और धर्मयुद्ध मोर्चा की याद दिला दी।

इससे पहले यात्रा थोड़ी देर के लिए संगत पुरा(अजनाला हलका) में रूकी, जहां कई सुविधा केंद्रों में कई सुनसान, टूटे हुए शीशों और दीमक खाए दरवाजों के साथ उपेक्षा की स्थिति में हैं। सरदार बादल ने कहा कि यह उपेक्षित सुविधा केंद्र उस दुर्दशा का प्रतीक है, जिसे पंजाब के बाहरी लोगों की प्राॅक्सी सरकार ने किस स्थिति में पहुंचा दिया है। उन्होने विभिन्न पड़ावों पर लोगों की शिकायतों को सुना और उन्हे यह आश्वासन दिया कि अकाली दल यह सुनिश्चित करेगा कि उनके साथ न्याय किया जाए। अजनाला में बड़ी संख्या में ईसाई भी यात्रा में शामिल हुए।  अकाली दल की  शांति और साम्प्रदायिक की सोच के प्रति पूर्ण समर्थन व्यक्त करते हुए उन्होने कहा, ‘‘ पंजाब को बचाने के लिए हम सौ फीसदी अकाली दल के साथ खड़े हैं।  एक ईसाई प्रतिनिधि ने अकाली दल अध्यक्ष से कहा ,‘‘सिख , हिंदू, ईसाई, मुस्लिम- हर कोई बाहरी लोगों से लड़ने और पंजाब और पंजाबियों को बचाने के लिए अकाली दल के साथ मिलकर लड़ेगा’’। यात्रा में  सरदार बिक्रम सिंह मजीठिया ,वरिष्ठ नेता श्री अनिल जोशी और डाॅ. दलजीत सिंह चीमा भी मौजूद थे।

 

About News Desk

Check Also

छत्रगलां के आतंकी हमले म, सेना के पांच जवान, एक SPO घायल, ऑपरेशन जारी

कठुआ-भद्रवाह की सीमा पर स्थित छत्रगलां टॉप में आतंकियों ने नाका पार्टी पर हमला कर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *