Friday , July 19 2024
Breaking News

मौसम समाचार :- में बारिश ने मचाई तबाही, दिल्ली समेत इन राज्यों में ऑरेंज और रेड अलर्ट जारी

नई दिल्ली:

एक तरफ जहां गर्मी से बेहाल लोगों का इंतजार बारिश की राहत भरी बूंदों के साथ खत्म हुआ, तो वहीं दूसरी तरफ पूर्वोत्तर इसकी मार झेल रहा है.असम और अरुणाचल पिछले एक महीने से बाढ़ (Assam Flood) से जूझ रहा है. नदियां अपना रौद्र रूप दिखा रही हैं. इन दिनों पूरा डिब्रूगढ़ शहर पानी में डूबा हुआ है. पानी ने ऐसा हाहाकार मचाया है, कि लोगों का जीना मुहाल हो रहा है. पूर्वोत्तर में पानी देखकर लोगों की सांसें फूलने लगी हैं तो वहीं उत्तराखंड भारी बारिश (Uttarakhand Red Alert)  की चेतावनी से दहला हुआ है. रेड अलर्ट के बाद लोगों में खौफ का माहौल है. वहीं गुजरात की गई जगह भी रेड अलर्ट पर हैं. दिल्ली भी इस मामले में पीछे नहीं है. पिछले दिनों हुई मूसलाधार बारिश से पूरी दिल्ली पानी-पानी हो गई. अब तक लोग उस हालत से उबर नहीं पाए हैं कि अब मौसम विभाग ने एक बार फिर से बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है.

डूब रहा असम, कोई तो बचा लो

असम और अरुणाचल प्रदेश में बाढ़ से हाहाकार मचा हुआ है. 6.44 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ की चपेट में हैं, वहीं 60 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. वहीं आफत अभी टली नहीं है. आईएमडी ने फिर से भारी बारिश का पूर्वानुमान जारी किया है.  आईएमडी ने एक विशेष मौसम बुलेटिन जारी कर कहा है कि 1 जुलाई से 5 जुलाई तक भारी से बहुत भारी बारिश की हो सकती है.

 

गुवाहाटी में क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है, जिससे अधिकांश जगहों पर मध्यम बारिश की आशंका है. रिपोर्ट के मुताबिक काजीरंगा वन्य जीव अभयारण्य का बड़ा हिस्सा पानी में डूब गया है. बड़ी तादात में जानवर ऊंची जगहों की तलाश में  पूर्वी कार्बी आंगलोंग जिले के दक्षिणी हिस्से की तरफ जाने को मजबूर है. मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा का कहना है कि राज्य में बाढ़ की स्थिति अगले कुछ दिनों तक गंभीर रहेगी. भारी बारिश की वजह से सभी नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. अरुणाचल प्रदेश के चांगलांग जिले के दियुन के बिजॉयपुर से 11 असम राइफल्स और एनडीआरएफ की टीम ने बच्चों और शिक्षकों को बचाया.

  • असम में 6 .44 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ की चपेट में.
  • आठ नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रहीं
  • जोरहाट के नेमाटीघाट में ब्रह्मपुत्र अपने उच्चतम बाढ़ स्तर को पार कर गई.
  • काजीरंगा टाइगर रिजर्व के 233 वन शिविरों में से 26 प्रतिशत से अधिक जलमग्न.
  • अगले दो से तीन दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी.
  • 14 जिलों में कुल 2,70,628 लोग बाढ़ से जूझ रहे.

गुजरात में आफत की बारिश 

गुजरात में मॉनसून के दस्तक के साथ ही भारी बारिश हो रही है. जूनागढ़ में तो बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. अहमदाबाद के कई इलाकों में तो सड़कें धंस तक गई हैं. जगह-जगह पानी भरा है और नदियां उफान पर हैं. गुजरात तो बारिश से फिलहाल राहत मिलने की उम्मीद नहीं है. दक्षिण गुजरात सौराष्ट्र-कच्छ के लिए मौसम विभाग ने पहले ही रेड अलर्ट जारी कर दिया है.

आईएमडी ने मंगलवार सुबह तक कई जिलों के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी किया है, जिसमें दक्षिण गुजरात के सूरत, नवसारी, वलसाड के साथ-साथ जामनगर, पोरबंदर, जूनागढ़, द्वारका और कच्छ में मूसलाधार बारिश की आशंका जताई जा रही है. भारी बारिश से निचले इलाकों में पानी भरने से यातायात प्रभावित हुआ है. कुछ सड़कों और अंडरपास की हालत खराब है.

  • गुजरात के कई इलाकों में दो दिनों तक हो सकती है भारी बारिश.
  • अहमदाबाद, सूरत, जूनागढ़, भुज, वापी और भरुच में कई जगहों पर भरा पानी.
  • जूनागढ़ में पैदा हो गए बाढ़ जैसे हालात.
  • सौराष्ट्र, दक्षिण और मध्य गुजरात में भारी बारिश की चेतावनी.
  •  मेघल नदी का जलस्तर बढ़ा, खतरे के निशान से ऊपर बह रही.

बारिश से पानी-पानी उत्तराखंड

उत्तराखंड में भी बारिश जमकर तबाही मचा रही है. हर तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है. बारिश का असल चारधाम यात्रा पर भी पड़ रहा है. जबसे बारिश शुरू हुई है, चारधाम जाने वाले श्रद्धालुओं में कमी आने लगी है. पहाड़ों में अभी बदरा तो जमकर बरसेंगे. आईएमडी ने कुमाऊं क्षेत्र के लिए रेड अलर्ट जारी किया है.

कुमाऊं क्षेत्र में भारी से बहुत भारी बारिश और कुछ जगहों पर बहुत ज्यादा भारी बारिश हो सकती है, इसीलिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. वहीं टिहरी, देहरादून, पौडी, हरिद्वार, पिथौरागढ, बागेश्वर, अल्मोडा, चंपावत, नैनीताल, उधम सिंह नगर में भारी से बहुत भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. इस दौरान प्रशासन भी पूरी तरह से अलर्ट पर है.

  • 2 जुलाई को अलग-अलग जगहों पर भारी बारिश का अनुमान.
  • टिहरी में 2-5 जुलाई के बीच हो सकती है भारी बारिश, ऑरेंज अलर्ट.
  • नदी में पानी बढ़ने से हरिद्वार में बह गए वाहन.
  • बारिश की वजह से दरक रहे पहाड़, हो रहा भूस्खलन.

बारिश की चेतावनी से दिल्ली के दिल में खौफ

पिछले दिनों हुई मूसलाधार बारिश के दिल्ली में कई रिकॉर्ड तोड़ दिए. बारिश के प्रकोप से दिल्ली अब तक उबर नहीं पाई है कि मौसम विभाग ने फिर से भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है. वैसे तो मौसम विभाग की भविष्यावाणी के बाद भी दिल्ली में सोमवार को बारिश नहीं हुई. लेकिन अगले दो दिनों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है.

पिछले दिनों हुई बारिश से दिल्ली को गर्मी से थोड़ी राहत जरूर मिली लेकिन जान आफत में भी आ गई. सड़क ही क्या घरों में भी पानी भर गया. वाहन डूब गए, ट्रैफिक से दिल्ली जाम हो गई. अब एक बार फिर से बारिश की चेतावनी से दिल्ली डरी हुई है.

  • दिल्ली में बारिश से भर गया घरों और सड़कों पर पानी.
  • मिंटो रोड के अंडरपास के नीचे पानी भरने से डूब गए वाहन.
  • राम गोपाल यादव के आवास भी पानी-पानी हुआ.
  • बारिश से दिल्ली में मचा हाहाकार.
  • दिल्ली एयरपोर्ट टर्मिनल-1 की छत गिरने से एक की मौत.

About Ritik Thakur

Check Also

शिमला में लोगों की परेशानी बढ़ा रही बारिश, लोकल बस स्टैंड के नजदीक भूस्खलन से आवाजाही प्रभावित

शिमला: बीते साल की तरह इस साल भी मानसून की बारिश आम लोगों की परेशानी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *