आखिर किस लिए निकले हैं ठाकुर कौल सिंह प्रदेश के दौरे पे और क्या है पत्र बम का सच ।

0
862

नवनीत बत्ता,ब्यूरो।

राजनीति में माहौल बदलते देर नहीं लगती और कुछ ऐसा ही सच हिमाचल प्रदेश कांग्रेस का प्रभारी बदलने से देखने को मिला है और उसी के साथ राजीव शुक्ला का मंडी जिला का दौरा सुर्खियां बटोरता नजर आ रहा है लेकिन इन सबके बीच में ठाकुर कौल सिंह लगातार प्रदेश के दौरे पर बने हुए हैं

कांग्रेस की राजनीति में ठाकुर कौल सिंह हमेशा ही एक ऐसा चेहरा रहा जो कहीं ना कहीं वीरभद्र सिंह के बजूद को राजनीतिक रूप से चुनौती देने का प्रयास तो जरूर करता रहा लेकिन जब जब भी स्तिथियों को तय करने का समय आया तब तक उन्होंने अपने हाथ पीछे खींच

प्रदेश में लगातार राजनीति के समीकरण बदल रहे हैं और इन्हीं समीकरणों में ठाकुर कौल सिंह एक बार फिर से प्रदेश के दौरे पर हैं और प्रदेश की मौजूदा सरकार पर लगातार भ्रष्टाचार को लेकर हमले करते भी दिखाई दे रहे हैं ।लेकिन मंडी में क्या हुआ था यह भी एक चर्चा का विषय है ।राजीव शुक्ला मंडी दौरे पर आए तो पंडित सुखराम के घर गए, लेकिन जब यह समीकरण बनकर सामने आया तो कहीं ना कहीं ठाकुर कौल सिंह के लिए मंडी में ही एक बार फिर से सुखराम परिवार राजनीतिक चुनौती दे गया और जिस तरह से पिछले कुछ समय से वह परिवार राजनीति के लिए संघर्ष करता दिखाई दे रहा था राजीव शुक्ला के इस दौरे के बाद एक बार फिर फ्रंट फुट पर खेलता नजर आ रहा है जो कि मुख्यमनंत्री के लिए भी चिंता का विषय हो सकता है ।

ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी को लेकर एक पत्र बम फूटा था और उसमें ठाकुर कौल सिंह का नाम आनंद शर्मा के साथ निकल कर सामने आया तो राजनीतिक रूप से इस बम को इस तरह से माना जा रहा था कि अब हिमाचल प्रदेश में कौल सिंह को एक बार फिर राजनीतिक रूप से संघर्ष करना पड़ेगा। लेकिन धीरे धीरे कड़ियां जुड़ती चली जा रही हैं और अब मिली जानकारी के अनुसार सिर्फ ठाकुर कौल सिंह ही नहीं बल्कि हिमाचल प्रदेश से कांग्रेस के 9 धुरंधर चेहरे ऐसे थे जिन्होंने सीधे-सीधे ना सही लेकिन पर्दे के पीछे इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और अब कहीं ना कहीं अपने वजूद को साबित करने के लिए इन सभी चेहरों को राजनीतिक लड़ाई लड़नी पड़ रही है और यही कारण है कि अपने कद का एहसास करवाने के लिए ना सिर्फ पूरे प्रदेश के दौरे करने पड़ रहे हैं लेकिन यहां तक कुछ नेताओं को तो शक्ति प्रदर्शन तक करने पड़ रहे हैं।

अगर नेताओं की बात करें तो 9 चेहरे जो ठाकुर कौल सिंह सहित थे ,सूत्रों की माने तो ये चेहरे पूरे प्रदेश से थे और पूरे देश से ऐसे 300 नेताओं के नाम शॉर्टलिस्ट हुए हैं ।हिमाचल के भी हर जिले से ये नाम निकल कर सामने आ रहे हैं और अब जब स्तिथि धीरे धीरे स्पस्ट हो रही है तो राजनीतिक माहौल भी बदल रहा है और एहि कारण है कि कहीं ना कहीं अध्यक्ष कुलदीप राठौर को भी भारी विरोध के बाद जीवनदान मिला हुआ है ।

ठाकुर कौल सिंह वह चेहरा है जिन्होंने आनद शर्मा के साथ उस पत्र बम में अपने हस्ताक्षर किए हुए हैं यही कारण है कि जब से वह पत्र लीक हुआ है तब से लेकर आज तक लगातार ठाकुर कौल सिंह पार्टी के एक गुट के निशाने पर चल रहे हैं लेकिन हाईकमान अब उन चेहरों की भी तलाश कर रही है जिन लोगों ने इस पत्र बम के ऊपर साइन करने के लिए ठाकुर कौल सिंह को अधिकृत किया था और यही कारण है कि कांग्रेस पार्टी के भीतर भारी असंतोष का माहौल इन दिनों चल रहा है और कुलदीप राठौर आश्वस्त है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here