फेसबुक ने बजरंग दल को ख़तरनाक संगठन मानने से किया इनकार – मीडिया रिब्यू

0
270

ख़बर अमेरिकी अख़बार वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के हवाले से लिखी है.

अंग्रेज़ी अख़बार की एक ख़बर के मुताबिक़ फेसबुक इंडिया ने बजरंग दल को ख़तरनाक संगठन मानने से इसलिए इनकार कर दिया था क्योंकि इससे उसके कर्मचारियों पर हमला हो सकता था और उसका कारोबार प्रभावित हो सकता था.

इस रिपोर्ट के मुताबिक बजरंग दल को ख़तरनाक संगठन में शामिल करने की मांग जून में दिल्ली के बाहर एक चर्च पर हमले के बाद से उठी थी.

फेसबुक की सेफ्टी टीम इस साल की शुरुआत में इस निष्कर्ष पर पहुंची थी कि बजरंग दल पूरे भारत में अल्पसंख्यकों के ख़िलाफ़ हिंसा का समर्थन करता है और एक ख़तरनाक संगठन माना जा सकता है. हालांकि, फेसबुक इंडिया ने इस सलाह को खारिज कर दिया थ.

अख़बार के मुताबिक वॉल स्ट्रीट जनरल ने फेसबुक प्रवक्ता एंडी स्टोन के हवाले से लिखा था कि बजरंग दल की वजह से उनके कर्मचारियों और कारोबार को मुश्किल हो सकती है और इसको लेकर चर्चा हुई थी. यह स्टैंडर्ड प्रक्रिया का हिस्सा था.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक न्यूज़ चैनल की वीडियो क्लिप शेयर की है जिसमें वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट दिखाई जा रही है. राहुल गांधी ने लिखा है, ”बीजेपी-आरएसएस के भारत में फेसबुक को नियंत्रित करने की एक और पुष्टि.”

वहीं, फेसबुक ने किसी राजनीतिक पार्टी के प्रति पक्षपात से इनकार किया है. फेसबुक के प्रवक्ता ने टीओआई से कहा है, हम अपनी ख़तरनाक संगठनों और व्यक्तियों की नीति बिना किसी राजनीतिक पक्ष या पार्टी से जुड़ाव के लागू करते हैं.

विश्व हिंदू परिषद (BHP) ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया छपे एक लेख में कहा है कि संगठन वॉल स्ट्रीट जर्नल के ख़िलाफ़ उसे बदनाम करने के लिए क़ानूनी कार्यवाही करेगा. बजरंग दल और वीएचपी संघ परिवार का हिस्सा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here