सांसद इंदु गोस्वामी आई कंगना के समर्थन में, कहां महिलायों का दमन सहन नही होगा।

0
479

नवनीत बता ब्यूरो

भाजपा की वरिष्ठ नेत्री और राज्यसभा सांसद , पूर्व महिला मोर्चा अध्यक्ष इंदु गोस्वामी भी आज कंगना राणावत के समर्थन में खड़ी नजर आई। उन्होंने सोशल मीडिया पर कंगना को लेकर हिमाचल प्रदेश में चल रहे महिलाओं के प्रदर्शन के वीडियो को सांझा करते हुए कहां की महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए वह लंबे समय से समर्पित हैं और जब जब भी महिलाओं के ऊपर अत्याचार हुए हैं तो मैंने भी हमेशा अपनी बात रखी है।

गोस्वामी ने कहा कि कंगना रनौत का समर्थन सिर्फ इसलिए नहीं है कि वह हिमाचल की बेटी है बल्कि समर्थन इसलिए भी है क्योंकि उसे बेवजह महाराष्ट्र में तंग किया जा रहा है। बीएमसी का जो मसला है उसको बिना वजह से वहां की सरकार ने तूल दी है और उसके घर के साथ जो तोड़फोड़ हुई है वह तो कोई आर्थिक रूप से बहुत बड़ी बात नहीं है लेकिन अगर इसे महिलाओं के साथ और उनके सशक्तिकरण के साथ जोड़कर देखें तो दमन की राजनीति एक तरह से शिवसेना की सरकार महाराष्ट्र में करते दिखाई दे रही है।

हालांकि पिछले कल महिला मोर्चा की अध्यक्षा रश्मि धर सूद का बयान की प्रियंका गांधी के घर को भी तोड़ सकता है प्रदेश में महिला मोर्चा को लेकर राज्यसभा सांसद इंदु गोस्वामी ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि इस समय जो घटना कंगना रनौत के साथ मुंबई में घट रही है उसको लेकर पूरे देश की महिलाएं एकत्रित है और हम सब हर मंच से शिवसेना के इस सरकार का इस काम के लिए पूरी तरह से विरोध कर रहे हैं ।उन्होंने कहा कि इस घटना में सच्चाई कम और राजनीति अधिक नजर आ रही है और ना सिर्फ भाजपा बल्कि भाजपा का पूरा महिला मोर्चा पूरे देश में इस मामले में कंगना रनौत के साथ खड़ा है।उन्होंने कहा कंगना ही नही बल्कि प्रदेश या देश की किसी भी महिला के साथ इतने बड़े स्तर की राजेनीति होना बड़ी बात है और महिलाओं के उत्थान के लिए इस तरह के दमन के खिलाफ आवाज उठाना बहुत जरूरी है

उन्होंने कहां की समस्त भारत की महिलाओं को इस विषय में आगे आना चाहिए और राजनीति से उठकर इस तरह का जो महिलाओं पर अत्याचार या उत्पीड़न किया जा रहा है इसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए उन्होंने कहा कि इसमें राजनीति की कोई बात नहीं है और हर महिला को इस तरह के मुद्दों को लेकर कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होना चाहिए और जिस तरह से कंगना आज मुंबई में बैठकर अपनी लड़ाई लड़ रही है और पूरे देश की महिलाएं उनका समर्थन कर रही है उसी तरह से महिलाओं को एकजुटता का संदेश पूरे देश में देना चाहिए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here