पालमपुर, । पूरी दुनियां कोरोना वायरस महामारी से ग्रसित है। संक्रमण का खतरा सबके लिये बना है। चिकित्सक, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, प्रशासन, पुलिस, सफाई कर्मचारी, मीडिया और स्वंयसेवी योद्धाओं के रूप में दिन-रात कोरोना मुक्त समाज के लिये कार्य कर रहे हैं। ज़िला कांगड़ा के पालमपुर उपमंडल में लॉकडाउन से प्रभावित हुए प्रवासी लोगों को राशन इत्यादि तथा हमारे कोरोना योद्धाओं की मदद के लिये भी सैंकड़ों लोग आगे आये हैं। उपमंडल के राधास्वामी सत्संग परौर का भी बहुत बड़ा सहयोग कोरोना के खिलाफ जंग के लिये प्रशासन को प्राप्त हुआ है। राधास्वामी सत्संग परौर ने विशाल सत्संग भवन संस्थागत संगरोध (इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन) केंद्र के लिये दिया है। यह ज़िला कांगड़ा का सबसे बड़ा केन्द्र बना है, जिसमे लगभग एक हजार लोगों को रखने की व्यवस्था है। यहां लगभग इतने ही शौचालय तथा स्नानघर हैं, जिससे एक दूसरे में इनके प्रयोग से संक्रमण फैलने का भी कोई खतरा नहीं है। इसके अलावा सत्संग के सैंकड़ों सेवक महिला और पुरुष कोरोना योद्धाओं तथा इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रखें लोगों की सेवा में डटे हुए हैं। प्रतिदिन कोरोना योद्धाओं, इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रखे लोगों के लिये तीन टाइम का पैक्ड पोष्टिक खाना, चाय और पानी की व्यवस्था सत्संग की ओर से की जा रही है।
समाज सेवी संस्था पालमपुर सेवियर के स्वंयसेवी भी लॉकडाउन से लेकर आज तक दिन-रात अपनी सेवायें दे रहे हैं। पालमपुर सेवियर ने लॉक डाउन और कर्फ्यू के दौरान घर-घर दवाइयां एवं अन्य जरूरत का समान लोगों के घरों तक नि:स्वार्थ भावना से पहुंचाया। परौर में इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रखे लोगों को खाना बांटने और उनकी अन्य तरह की सहायता के लिये सेवियर के स्वयंसेवी दिन-रात कोरोना योद्धाओं के रूप में कार्य कर रहे हैं। संकट की इस घड़ी में दिन-रात कोरोना योद्धाओं और लोगों की सहायता के लिये सेवा और समर्पण की भावना से अपनी सेवायें देने के लिये दोनों संस्थाओं के योगदान के लिये हर कोई सहयोग कर रहा है।
एसडीएम पालमपुर धर्मेश रामोत्रा ने बताया कि संकट की घड़ी में बहुत बड़ा सहयोग राधा स्वामी सत्संग परौर की ओर से मिला है। उन्होंने कहा कि सेवक दिन रात यहां रखे लोगों के लिये खान पान इत्यादि की व्यवस्था में लगे हैं। उन्होंने बताया कि सत्संग की ओर से हमेशा हर संभव सहायता के लिये तैयार रहता है। उन्होंने बताया कि राधा स्वामी सत्संग में पहले गोवा से जिला कांगड़ा के 321 लोग आए थे और मुंबई से 248 लोग यहां पहुंचे इन लोगों की स्कैनिंग तथा जांच के बाद इन्हें होम क्वारंटाइन के लिये भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि दोनों संस्थाओं को संक्रमण से बचाव के लिये सारा प्रोटोकाल अपनाने के लिये आवश्यक बस्तुऐं प्रशासन उपलब्ध करवा रहा है। एसडीएम ने राधा स्वामी सत्संग परौर बहुत बड़े सहयोग तथा पालमपुर सेवियर की निःस्वार्थ भावना से सेवा के आभार प्रकट किया। उन्होंने पालमपुर सेवियर के स्वयं सेवियों का भी निःस्वार्थ सेवा भावना के लिये आभार प्रकट किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here