स्टेट बैंक ने ‘मनस्वी’ और “तपस्वी’ के माध्यम से दिल्‍ली में दर्शाया ई-वेस्ट से बना अनूठा आर्टवर्क

0
286

नई दिल्‍ली: पर्यावरणीय स्थिरता के प्रति निरंतर प्रतिबद्धता के साथ, देश के सबसे बड़े ऋणदाता बैंक- स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने 42.5 फुट की दो विशिष्ट कलाकृतियाँ- “मनस्वी” और “तपस्वी” बनाकर एक अनूठी पहल की है। एसबीआई के चेयरमैन श्री रजनीश कुमार ने आज नई दिल्ली में
लोकल हैड ऑफिस (एलएचओ) में इन दोनों अनूठी कलाकृतियों का उद्घाटन किया।

इन दोनों कलाकृतियों को बनाने के लिए लगभग 400 कंप्यूटर, 2000 से अधिक माइक्रोचिप, 400 से अधिक कीबोर्ड और 200 से अधिक रद्द किए गए क्रेडिट कार्ड का उपयोग किया गया था। मनस्वी का अर्थ है बुद्धिमान व्यक्ति जो शुद्ध महान विचार रखते हैं, जबकि तपस्वी का अर्थ है ध्यान की अवस्था में संत।

स्टेट बैंक ने 'मनस्वी' और “तपस्वी' के माध्यमसे दर्शाया ई-वेस्ट से बना अनूठा आर्टवर्क.दिल्ली की स्टेट बैंक ऑफ इंडिया।…

Posted by ANV News Delhi on Saturday, February 15, 2020

एसबीआई के दिल्‍ली सर्कल के सीजीएम श्री विजय रंजन द्वारा परिकल्पित इन कलाकृतियों को जयपुर के कलाकार श्री मुकेशकुमार ज्वाला ने मदर एसबीआई” नामक एक श्रृंखला के तहत केवल 3 महीनों में तैयार किया गया है।

एसबीआई के चेयरमैन श्री रजनीश कुमार ने इस अवसर पर कहा, “देश में इकालॉजिकल बैलेंस बनाए रखने की दृष्टि से निर्मित अपनी तरह की इन अनूठी कलाकृतियों को प्रस्तुत करते हुए मुझे बेहद प्रसन्नता का अनुभव हो रहा है। यह हमारे लिए गर्व का क्षण है, क्‍योंकि बैंक व्यापक शोध और अनुसंधान और अनेक प्रकार के ई-वेस्ट के सहयोग से ‘मनस्वी’ और “तपस्वी’ को पेश करने में कामयाब हुआ है। हमें विश्वास है
कि ये कलाकृतियाँ हमें अधिक प्रतिबद्धता और समर्पण के साथ अपने ग्राहकों की सेवा करने के लिए प्रेरित करेंगी |”

इन कलाकृतियों को योग और ध्यान मुद्राओं में बनाया गया है जो पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ स्वस्थ होने का संदेश देती हैं। ‘मनस्वी’ और “तपस्वी’ को एसबीआई ने मानवीय रूप में एक महिला के तौर पर दर्शाया है जो भारत की मजबूत और स्वस्थ अर्थव्यवस्था के लिए एसबीआई की चेतना को भी दर्शाती है।

सुप्रीम कोर्ट के AGR मामले में कंपनियों की अर्जी खारिज करने का सबसे ज्यादा असर बैंकों पर पड़ेगा। SBI के चेयरमैन रजनीश…

Posted by ANV News Delhi on Saturday, February 15, 2020

देश के सबसे बड़े कर्जदाता एसबीआई (SBI) के प्रमुख रजनीश कुमार ने कहा कि बैंक आगे के घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए है. जब कुमार से यह पूछा गया कि यदि कोई दूरसंचार कंपनी दिवालियापन की ओर बढ़ती है तो इसका बैंकों पर क्या असर होगा, उन्होंने कहा, ‘अगर किसी भी उद्यम पर नकारात्मक असर होता है तो इसका असर एक व्यापक व्यवस्था पर होगा. चाहें वे बैंक हों, चाहें कर्मचारी हों, चाहें वे वैंडर हों या ग्राहक, हर कोई प्रभावित होगा.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here