हिमाचल में आवाजाही को पास की जरूरत नहीं, पहली जून से रात के समय ही रहेगा कर्फ्यू

0
127

पुरा हिमाचल खुलेगा, पहली जून से रात के समय ही रहेगा कर्फ्यू
May 31st, 2020

प्रदेश का प्लान भी है तैयार
एक महीने के भीतर धीरे-धीरे मिलेगी छूट

पहली जून से रात के समय ही रहेगा कर्फ्यू

सुबह सात से लेकर शाम सात बजे तक छूट

सरकारी और निजी बसें चलाने की तैयारियां

प्रदेश में आवाजाही को पास की जरूरत नहीं

दूसरे राज्यों में जाकर 48 घंटे के भीतर वापसी पर न पास, न होंगे क्वारंटाइन

बाहरी राज्यों से आने वालों के लिए कर्फ्यू पास अनिवार्य

सरकारी कार्यालयों में फुल स्ट्रेंथ के साथ स्टाफ बुलाए जाने की भी तैयारी

शिमला-हिमाचल प्रदेश में कर्फ्यू 30 जून तक जारी रहेगा। इसके लिए सभी उपायुक्तों को सीआरपीसी की धारा 144 के तहत शक्तियां प्रदान कर अधिसूचना जारी करने को कहा है। हालांकि पांचवें चरण के इस एक माह के कर्फ्यू में समूचे हिमाचल को खोल दिया जाएगा। इसे लेकर राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण रविवार को अलग से गाइडलाइंस जारी करेगा। इसके लिए शनिवार दोपहर दो घंटे तक मुख्यमंत्री कार्यालय में उच्चाधिकारियों के साथ रोड़ मैप तैयार किया गया है। इसके तहत पहली जून से कर्फ्यू रात के समय ही रहेगा। सुबह सात से लेकर शाम सात बजे तक पूरे 12 घंटे कर्फ्यू में छूट रहेगी। इस दौरान प्रदेश भर में आवाजाही के लिए किसी को भी कर्फ्यू पास लेने की जरूरत नहीं होगी। प्रदेश का कोई भी व्यक्ति बिना अनुमति के टैक्सी या निजी वाहन में दिनभर किसी भी जिला में आ-जा सकता है। इसी समयावधि के दौरान निजी-एचआरटीसी बसों सहित पब्लिक ट्रांसपोर्ट भी खुला रहेगा। यानी सुबह सात बजे से लेकर शाम सात बजे के बीच ही बसों को अपने निर्धारित रूटों पर चलने की अनुमति रहेगी। पहली जून से हिमाचल प्रदेश से दूसरे राज्यों में जाने के लिए कर्फ्यू पास लेना जरूरी नहीं होगा। मेडिकल जांच के लिए प्रदेश से बाहर जाने व आने के लिए भी कर्फ्यू पास की आवश्यकता नहीं होगी। सरकारी कर्मचारी-अधिकारियों को हिमाचल से बाहर बैठकों में हिस्सा लेने के लिए 72 घंटे की राहत रहेगी। इस समयावधि के बीच वापस लौटने वाले अफसरों को क्वारंटाइन नहीं किया जाएगा और न ही उन्हें किसी प्रकार के पास की आवश्यकता होगी। गैर सरकारी लोगों को मीटिंग या दूसरे जरूरी कामों के लिए प्रदेश से बाहर जाकर 48 घंटे के भीतर लौटने पर वापसी के लिए कर्फ्यू पास नहीं लेना पड़ेगा। इस समयावधि के बीच लौटने वालों को क्वारंटाइन भी नहीं किया जाएगा। इन दो शर्तों को छोड़कर बाहरी राज्यों से आने वालों को कर्फ्यू पास लेकर ही हिमाचल में प्रवेश की अनुमति होगी। बहरहाल पहली जून से हिमाचल स्वास्थ्य विभाग क्वारंटाइन व्यवस्था को लेकर बड़ा बदलाव करने की तैयारी में है। इसका भी रोड़ मैप तैयार किया जा रहा है। इसके तहत राज्य सरकार इंस्टीच्यूशनल क्वारंटाइन की बजाए होम क्वारंटाइन को ज्यादा फोकस करेगी। इसके लिए सुरक्षा मानकों के प्रबंध पुख्ता किए जा रहे हैं। पहली जून से सरकारी कार्यालयों में फुल स्ट्रेंथ के साथ स्टाफ बुलाए जाने की भी तैयारी है। जाहिर है कि मौजूदा समय में 50 फीसदी स्टाफ के साथ कर्मचारियों को वैकल्पिक दिनों पर दफ्तरों में बुलाया जा रहा है। सोमवार से सभी कर्मचारियों को दफ्तरों में हाजिरी देनी होगी। हालांकि उक्त सभी संभावित गाइडलाइंस के लिए रविवार को अधिकारिक रूप से अधिसूचना जारी होने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here