अभिनेता श्रीराम लागू का 92 की उम्र में निधन

0
160

मराठी और हिंदी सिनेमा और रंगमंच के जाने-माने कलाकार डॉ. श्रीराम लागू नहीं रहे। मंगलवार को 92 साल की उम्र में उन्होंने पुणे के निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली। वे कुछ दिनों से बीमार थे। दो दिनों से उनका मर्ज और भी बढ़ गया था। डॉ. लागू ने 50 साल में हिंदी और मराठी की 200 से ज्यादा फिल्मों में काम किया। उन्होंने मराठी, हिंदी और गुजराती के 40 से ज्यादा नाटकों में काम किया । मराठी प्ले भी डायरेक्ट किए। उन्हें मराठी रंगमच के महान अभिनेताओं में गिना जाता है। उन्होंने घरौंदा, लावारिस, मुकद्दर का सिकंदर, हेराफेरी, एक दिन अचानक जैसी फिल्मों में महत्वपूर्ण किरदार निभाए। लागू एक पेशेवर  ENT सर्जन भी थे। उनकी आत्मकथा का शीर्षक ‘लमाण’ है, जिसका हिंदी में अर्थ ‘मालवाहक’ है। श्रीराम लागू को 1978 में हिंदी फिल्म घरौंदा के लिए सर्वश्रेष्ठ सहअभिनेता के फिल्मफेयर पुरस्कार से नवाजा गया। मराठी नाटक नट सम्राट में उनका निभाया गया किरदार काफी सराहा गया। 1960 के दौर में लागू ने पुणे और तंजानिया में मेडिकल प्रैक्टिस की। 1969 में वे फुल टाइम एक्टर हो गए। उनकी किताबों में गिधडे, गार्बो और आत्ममाथा शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here