Tuesday , July 23 2024
Breaking News

लाहुल के बाद अब स्पीति जाने के लिए देना होगा टैक्स

लाहुल स्पीति प्रशासन ने लाहुल के बाद अब स्पीति जाने के लिए भी साडा डवलपमेंट फीस देनी होगी। प्रशासन ने व्यावसायिक व स्पीति से बाहर पंजीकृत वाहनों के लिए टैक्स की दरें तय कर दी हैं। स्पीति खंड के विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (साडा) काजा और ताबो में हिमाचल सहित देश भर के विभिन्न हिस्सों से आने वाले वाहनों को प्रवेश करने पर शुल्क अदा करना होगा। इसके लिए समदो में बैरियर स्थापित किया गया है। टैक्स पहली जनवरी से लागू होगा और वाहन चालकों से प्रति ट्रिप के हिसाब से टैक्स लिया जाएगा। 24 नवंबर को विधायक रवि ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित साडा की बैठक में ग्रीन टैक्स लगाने का निर्णय लिया गया था।
काजा और ताबो में पर्यटकों का आवागमन दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है। इन क्षेत्रों में ठोस कूड़ा प्रबंधन, सीवरेज प्रबंधन के लिए साडा के पास वित्तीय अभाव है। आरएलए स्पीति में पंजीकृत निजी वाहनों को इस शुल्क से छूट रहेगी। स्पीति केे लोगों के वाहन अगर प्रदेश व देश के किसी अन्य आरएलए में पंजीकृत हैं। तो उनसे भी टैक्स नहीं लिया जाएगा। किन्नौर जिला के स्पीति के साथ सटे सुमरा गांव के लोगों के निजी वाहनों को राहत दी गई है। आरएलए स्पीति में पंजीकृत टैक्सी वाहनों के लिए सालाना शुल्क की दरें तय की गई है। इन्हें साडा की ओर एक पास दिया जाएगा। यह एक साल तक मान्य होगा। बड़े वाहन जैसे मैक्सी और ट्रेवलर के लिए 2500 रुपये सालाना और 1500 रुपये छोटे वाहनों का शुल्क रहेगा। एसडीएम काजा हर्ष अमरेंद्र नेगी ने कहा कि स्पीति आने वाले हर वाहन को ग्रीन टैक्स देना होगा। स्पीति को स्वच्छ सुंदर बनाने की दिशा में साडा काम कर रहा है।
बोक्स,,
समदो व लोसर में भी स्थापित होगा बेरियर,,
सर्दी में समदो में टैक्स एकत्रित होगा। काजा मनाली मार्ग खुलने पर लोसर में बैरियर स्थापित होगा। टैक्स एकत्र करने के लिए आउटसोर्स आधार पर कर्मचारी नियुक्त होंगे। फिलहाल लोक निर्माण विभाग के कर्मी टैक्स एकत्र करेंगे।
बोक्स,,
यह रहेंगी ग्रीन टैक्स की दरें,,
दोपहिया वाहन 100, कार 200 रुपये, स्कार्पियोंव मैक्सी कैब तथा अन्य वाहन 300 रुपये तथा बस और ट्रक का 400 रुपये रहेगा।
बोक्स,,
साडा शुल्क के लिए अलग से बैंक खाता खोला जाएगा। हर दिन एकत्रित होने वाला पैसा उसी दिन बैंक में जमा होगा। आउटसोर्स आधार पर रखे गए कर्मचारियों का वेतन और अन्य भत्ते साडा सदस्य जारी करेंगे। इस कोष से कोई वाहन नहीं खरीदा जाएगा। विदेश दौरे के लिए भी इस फंड का इस्तेमाल नहीं होगा।
बोक्स,,,
इन कार्यों पर खर्च होगा साडा शुल्क का पैसा,,,
सार्वजनिक शौचालय निर्माण, सोलर लाइट, सीसीटीवी, होर्डिंग बोर्ड, स्ट्रीट लाइट्स, सूचना पट्ट आदि पर खर्च होगा। स्थानीय पंचायतों को ठोस कूड़ा प्रबंधन और सीवरेज के लिए सहयोग किया जाएगा। स्पीति नदी के किनारे पर्यटकों के लिए सेंटर निर्मित होगा। स्पीति में नेचर पार्क, ईको टूरिज्म एंड वन्य प्राणी संरक्षण के कार्यों को प्रोत्साहित किया जाएगा।

About admin

Check Also

आयुष विभाग ने की बड़ी पहल,हिमाचल में निशुल्क मिलेंगे अश्वगंधा के पौधे

आयुष विभाग ने पहली बार यह पहल की है हिमाचल प्रदेश सरकार लोगों को अश्वगंधा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *