अयोध्या आंदोलन से बीजेपी को मिली संजीवनी

0
176
national

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले पर इन दिनों देश की सियासत गरमाई हुई है और सभी को इस पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार है. 29 साल पहले आज ही के दिन जब कारसेवक बाबरी मस्जिद की तरफ बढ़ रहे थे, तो उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने सख्त फैसला लेते हुए कारसेवकों पर गोली चलाने का आदेश दिया. इसमें पांच कारसेवकों की मौत हो गई थी.मुलायम सिंह के इस कदम से बाबरी मस्जिद तो उस समय बच गई, लेकिन भारतीय राजनीति की दशा और दिशा हमेशा के लिए बदल गई. बीजेपी को यहीं से राजनीतिक संजीवनी मिली. जबकि मुलायम सिंह यादव की छवि हिंदू विरोधी बन गई. हिंदूवादी संगठनों ने उन्हें ‘मुल्ला मुलायम’ के नाम से नवाजा. ये हिंदू विरोधी छवि अब तक मुलायम सिंह और उनकी समाजवादी पार्टी से पूरी तरह हटी नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here