पराली जलाने से अब मिल जाएगी किसानो को निजात

0
226

अब पराली प्रदूषण की जिम्मेदार नहीं होगी और न ही किसानों को पराली जलाने की जरूरत पड़ेगी।  क्यूंकि अंबाला में प्रशासन ने अब प्रदूषण की दोषी पराली से गायों के पेट भरने की मुहीम छेड़ी है। ध्यान फाउंडेशन की मदद से अंबाला प्रशासन पराली को गौशाला में भेजेगा। इसकी शुरुआत अंबाला के उपायुक्त ने पराली के तीन ट्रक गौशाला के लिए रवाना कर की। वहीं डिप्टी डायरेक्टर ऑफ़ एनिमल हस्बेंड्री की माने तो गायों को पराली सुखाकर देना गायों की सेहत के लिए भी लाभदायक रहेगा। प्रदूषण और पराली से निजात पाने के लिए अंबाला प्रशासन हर संभव प्रयास कर रहा है। इसी कड़ी में अंबाला प्रशासन ने किसानों द्वारा पराली को जलाने की बजाय इसका नया समाधान निकाला है। अंबाला प्रशासन ने अब पराली को चारे के रूप में इस्तेमाल करने की शुरुआत की है। अंबाला के उपायुक्त ने पराली से भरे 3 ट्रकों को गौशाला के लिए रवाना किया। उपायुक्त अंबाला ने अपील की है कि किसान अब पराली को जलाये नहीं क्योंकि किसानों की पराली अब पशुओं का पेट भरने का काम करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here