कोरोना की मार ने परेशान किए किसान

0
54

एक तरफ क्रोना का डर और दूसरी तरफ पंजाब के किसानों के ऊपर मंडरा रहा है लेबर का डर पंजाब में धान की फसल का सीजन शुरू हो रहा है जितनी लेबर है वह वापस अपने राज्य चली गई है या फिर दूसरे राज्यों से पंजाब आने के लिए ट्रेनों का इंतजार कर रही है ऐसे में धान की फसल लगाने का समय नजदीक है जो पिछली बार धान की फसल लगाने का प्रति एकड़ ₹2500 से लेकर ₹3000 खर्च आ रहा था अब उसको 6000 से भी ऊपर प्रति एकड़ धान लगाने का जो जहां पर मौजूद है वह मांग रहे हैं जो कि किसान के बस की बात नहीं है तस्वीरे संगरूर के ढूडीया में इसी बीच ज्यादातर किसान अब धान की सीधी बिजाई कर रहे जिसको कि बिना लेबर की मदद के साथ और बिना पानी की मदद के साथ खेत में ट्रैक्टर और भी डालने वाली मशीन के साथ खेत में वीजा जाता है इस तकनीक के साथ धान की फसल लगाने पर किसान को काफी फायदा होता है जिसमें लेबर का पूरा खर्च और पानी की बचत और दूसरे कई तरह के खर्च बजाते हैं लेकिन इसे थोड़ा किसान डर रहे हैं कि आखिर क्या सीधी बिजाई किया हुआ धान दूसरे धान के मुकाबले झाड़ देगा या नहीं लेकिन मजबूरी बस ही सही तो किसान अपने खेतों में 4 से लेकर 5 एकड़ तक सीधी बिजाई का ट्रायल कर रहे हैं और दूसरे किसानों को भी कह रहे हैं लेबर की कमी को दूर करने के लिए ऐसा ही करें पंजाब सरकार भी किसानों को सीधी बिजाई करने की सलाह दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here