कोरोना वायरस: कई दिन बाद जागा करनाल प्रशासन

0
121

एसडीएम नरेन्द्र पाल मलिक की अध्यक्षता में आज सैनेटाईजर और मास्क की ब्लैक मार्किटिंग को रोकने के उदेश्य से जिला प्रशासन द्वारा कड़ी कार्यवाही अमल में लाई गई। उपायुक्त निशांत कुमार यादव के मार्गदर्शन में गठित विभिन्न टीमों ने एक साथ लगभग आधा दर्जान  दवा विक्रेताओं की दुकानों पर छापेमारी की और स्पष्ट संदेश दिया… कि ब्लैक मार्किटिंग करने वाले को किसी भी सूरत में बक्शा नहीं जाएगा। एसडीएम ने कल्पना चावला राजकीय मैडिकल कॉलेज और महाबीर दल अस्पताल के सामने कई दवाईयों की दुकानों पर सैनेटाईजर और मास्क का स्टॉक चैक किया और संबंधित सामान के खरीद बिल मांगे और विक्रय मूल्य बारे जानकारी ली। एसडीएम नरेन्द्र पाल मलिक ने इस बारे में बताते हुए कहा कि कोरोना वायरस के चलते जिला प्रशासन को यह सूचना मिली थी कि दवा विक्रेता बाजार भाव से अधिक मूल्य पर सैनेटाईजर और मास्क की बिक्री कर रहे हैं, जबकि हरियाणा सरकार ने इस आपदा के समय में ऐसा करने वाले के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए है और  सरकार द्वारा एस्मा कानून के तहत सात साल सजा प्रावधान भी किया गया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here