Wednesday , February 21 2024
Breaking News

संधोल में स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जारी आंदोलन को माकपा ने दिया समर्थन

सरकाघाट। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी धर्मपुर कमेटी ने संधोल में स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने के लिए महिलाओं के नेतृत्व में गत 14 नवंबर से शुरू किए आंदोलन का समर्थन किया है और पार्टी के सचिव व पूर्व ज़िला पार्षद भूपेंद्र सिंह ने कहा कि स्वास्थ सेवाओं का मुद्दा केवल महिलाओं का ही नहीं अपितु सभी का है इसलिए इस आंदोलन में सभी को शामिल होना चाहिये लेक़िन इसके लिए पहल महिला मण्डलों के नेतृत्व को करनी चाहिए। हालांकि, इस आंदोलन को अब अन्य स्थानीय संस्थाओं का समर्थन भी मिल रहा है और पिछले कल सैंकड़ो लोगों ने संधोल में रैली की औऱ उनके समर्थन में बाज़ार भी बन्द रखा ।उसके बाद क्रमिक अनशन शुरू कर दिया है लेकिन स्थानीय विधायक इस आंदोलन की मांगों के बारे कोई बात नहीं कर रहे हैं और न ही कोई ब्यान इस बारे में दे रहे हैं। जो स्थानीय लोगों की उनसे अपेक्षा के विपरीत है।भूपेंद्र सिंह ने कहा कि उन्हें इस बारे जल्द मुख्यमंत्री से बात करके यहां पर स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ करवाना चाहिए और वास्तविक स्थिति से आंदोलन कर रही महिलाओं से भी बात भी करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि माकपा ने भी माह फ़रवरी में विधायक चंद्रशेखर को माँगपत्र सौंपा था जिसमें स्वास्थ्य सेवाओं को प्राथमिकता के आधार में सुधारने की मांग की थी कियूंकि पूर्व में भाजपा सरकार के समय में यहां के विधायक जो नंम्बर दो के मंत्री थे तब भी स्वास्थ्य सेवाएं नजरअंदाज की गई थी ।लेकिन वर्त्तमान सरकार के एक साल के समय में भी इस दिशा में कोई विशेष सुधार नहीं हुआ है।प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में एक्सरे मशीनें उपलब्ध नहीं है और सभी प्रकार के टेस्ट करवाने के लिए दूसरी जगह जाना पड़ता है।उन्होंने कहा कि कुछ राजनीतिक पार्टियों के लोग इस आंदोलन को किसी विशेष विचारधारा और महिला बनाम पुरूष पेश कर रहे हैं और यहां तक की विधायक को भी इनसे बात न करने की सलाह दे रहे हैं जो सही नहीं है भूपेंद्र सिंह ने कहा कि विधायक को उसे  प्रेस्टीज का मुद्दा नहीं बनाना चाहिए और विभाग के अधिकारियों औऱ आन्दोलन में शामिल महिला मंडलों से बात करनी चाहिये और जो भी वास्तविक स्थिति है उसके बारे अवगत करवाना चाहिए।

पिछले 19 दिन से संघर्ष कर रहीं संधोल की महिलाओं का क्रमिक अनशन आज दूसरे दिन प्रवेश कर गया है। रविवार को क्रमिक अनशन पर तीन महिलाएं बैठी इससे पहले शनिवार को जैसे ही 5 महिलाओं को 24 घण्टे के लिए क्रमिक अनशन पर बिठाया गया।उसके बाद ही अनेक महिलायें उनका साथ देने को लेकर रात भर ठंड में लघु सचिवालय के बाहर अस्थाई टेंट लगाकर बैठीं रहीं।इस अनशन के इतने दिन बाद भी बदहाल स्वास्थ सेवाओ के लेकर अनशन बैठीं इन महिलाओं के पास कोई भी स्थानीय नेता या कार्यकर्ता नही मिलने नही आया ओर न शासन प्रशासन ने इनकी सुध ली।सरकार ने इनकी सुरक्षा व्यवस्था के अनशन के दूसरे दिन 2 महिला कांस्टेबल की ड्यूटी जरूर लगाई है।

इधर इस अनशन की समन्वयक पूनम ठाकुर ने बताया कि हालांकि इतना सब हो जाने के बाबजूद भी सरकार ने लोंगो के प्रति अपनी कोई सवेंदना नही दिखाई और सरकार ने उन्हें थकाने का जो प्रयास किया है।उससे वो आहत हैं। पर महिलाएं डरने और हार मानने वाली नही है बल्कि हर रोज बढ़ती संख्या से उनका मनोबाल ओर बढ़ा है। उन्होने कहा की मांगे तो पूरी करवाएंगी ही क्योंकि अब ये आंदोलन इतनी आगे बढ़ चुका है अब कदम पीछे नही हटेंगे क्योंकि अब उन्होंने एक माह तक कि व्यवस्था बना ली है।

About admin

Check Also

Haryana News

सरप्लस बरसाती पानी के सदुपयोग को लेकर राजस्थान व हरियाणा के बीच हुआ DPR बनाने का समझौता….

चंडीगढ़। मानसून में जुलाई से अक्टूबर के दौरान, जो बरसाती पानी नदी के ज़रिए समुद्र …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *