शहर में लॉक डाउन के बावजूद सड़को पर लोगों की भीड़

0
318

प्रदेश में झज्जर समेत सात जिलों में  आज लॉक डाउन  का पहला दिन था। जनता कर्फ्यू को तो लोगों का पूरा साथ मिला लेकिन लॉक डाउन का उतना समर्थन लोगों का नही मिल पाया। शहर के झज्जर रोड, रेलवे रोड, अनाज मंडी क्षेत्र में लोगों की भीड़ रही। किरयाना स्टोर के साथ कई जगहों पर ऑटो पार्ट्स, हवन सामग्री, कपड़े और जूतों की दुकान भी सुबह सवेरे खुली मिली । वंही सबसे ज्यादा समस्या टिकरी बॉर्डर पर देखने को मिली। टिकरी बॉर्डर पर दिल्ली और झज्जर पुलिस ने बेरिकेडिंग कर वाहनों को रोक दिया था। बिना किसी इमेरजैंसी के घरों से बाहर वाहनों में निकले लोगो को न तो दिल्ली में घुसने दिया गया और ना ही हरियाणा में। केवल चिकित्सा सेवाओ में लगे वाहन, फल, सब्जी, दूध जैसे खाद्य उत्पाद ढोने वाले वाहन और सरकारी कर्मचारियों के वाहनों को ही आने जाने दिया गया। बेरिकेडिंग पर पुलिस जवानों के साथ लोगों ने जमकर बहस भी की। पुलिस जवान भी लोगों को समझाते रहे कि वो उन्ही की सेवा कर रहे हैं इसलिए व्यवस्था बनाने में सहयोग करे। वंही जिला उपायुक्त ने लॉक डाउन को गंभीरता से पालन कराने के लिए जिले भर 16 टीमो का गठन किया है ।अलग अलग इलाको में जाकर ये टीमें लॉक डाउन का सख्ती से पालन करवाएंगी। जिला उपायुक्त जितेंद्र दहिया ने बताया कि केवल फ़ूड आइटम्स, किरयाना स्टोर , मेडिकल स्टोर, हॉस्पिटल, नर्सिंग होम्स, सब्जी मंडी और अनाज मंडी ही खुली रहनी है बाकी दूसरी दुकाने खोलने पर रोक है। उन्होंने लोगों से अपील भी की है कोरोना को हराने में आमजन मानस सहयोग करे। क्योंकि कोरोना को हराने के लिए सोशल डिटेनसिंग बेहद कारगर  है इसलिए लोग घरों में ही अपनो के साथ रहे और जरूरत का सामान लेने के लिए ही घर से निकले अन्यथा नही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here