धर्मचंद चौधरी ने अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय सुंदरनगर का विधिवत पूजन करने के उपरांत रिबन काटकर की शुरुआत

0
80

सुंदरनगर में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय की मांग चली आ रही थी। इस अवसर पर धर्मचंद चौधरी ने कहा कि प्रदेश के उच्च न्यायालय की लिटिगेंटस की समस्याओं और सुविधाओं पर सीधी नजर है। उन्होंने कहा कि सुंदरनगर में अपील केसों के की अधिक संख्या को देखते हुए यहां अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय स्थापित किया गया है। उन्होंने कहा कि इससे दूरदराज से आए लोगों को न्याय के लिए जिला मुख्यालय नहीं जाना पड़ेगा। इस अवसर पर उन्होंने सुंदरनगर में न्यायालय परिसर के भवनों की दिन प्रतिदिन छोटी होती जा रही जगह के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि जल्दी ही सुंदरनगर में न्यायालय परिसरों के भवनों को नए रूप से बनाने की कार्य योजना तय की जाएगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में न्याय के लिए लिटिगेंटस की सुविधा के लिए न्याय प्रणाली पूरी तरह से सजग है। इसके लिए विभिन्न रूप से न्यायालय परिसर के साथ खाली पड़ी भूमि को न्यायालय कार्य में प्रयोग लाने की कार्य योजना तैयार की जा रही है। न्यायाधीश धर्मचंद चौधरी ने कहा कि लोगों को त्वरित व कम खर्च पर न्याय दिलाने की ओर कदम उठाते हुए अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय की स्थापना की गई है।
इस मौके पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश मंडी आरके शर्मा,एडीजी मंडी अपर्णा शर्मा,जिला एवं सत्र न्यायाधीश जिला फैमिली कोर्ट बहादुर सिंह, सीजीएम राजेंद्र कुमार, सिविल जज प्रतिभा नेगी,निरंजन सिंह मोबाईल ट्रैफिक मजिस्ट्रेट, एसीजेएम कोर्ट नंबर- 1 सुंदरनगर हकीकत धांडा व जेएमआईसी कोर्ट नंबर-2 अनीश कुमार,जिला न्यायवादी कुलभूषण गौतम, बार एशोसिएशन सुंदरनगर के प्रधान पूर्ण सिंह सेन सहित न्यायालय के समस्त एडवोकेट उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here