किसानों ने मांग की एसवाईएल नहीं दादुपुर नलवी का मुद्दा हल करो

0
51

यमुनानगर में एसवाईएल के समर्थन में बीजेपी के उपवास कार्यक्रम का किसानों ने किया विरोध। किसानों ने मांग की एसवाईएल नही दादुपुर नलवी का मुद्दा हल करो ।आज जगाधरी अनाज मंडी गेट पर बीजेपी के नेता एसवाईएल के समर्थन में कर रहे थे कि तभी भाकियू और किसान सँघर्ष समिति के बैनर तले किसान बीजेपी के उपवास कार्यक्रम का विरोध करते हुए बीजेपी के उपवास स्थल पर पहुंचने का जब प्रयास किया जिसके बाद दोनों तरफ नारेबाजी हुई और किसानों को आगे बढ़ता देख भारी पुलिस बल ने वहाँ से किसानों को हटाया।किसानों को पुलिस ने उठा उठा खींच  कर पीछे किया इस दौरान किसानों और पुलिस के बीच धक्का मुक्की हुई।

वही किसानों का कहना था कि बीजेपी किसान आंदोलन को डाइवर्ट करने के लिए ये सब कर रहे है जबकि दादुपुर नलवी नहर के हक में फैंसला आया लेकिन उसके बाद भी प्रदेश सरकार ने उसे बन्द कर दिया।वही बीजेपी जिला अध्य्क्ष ने कहा कि ये किसान नही किसानों की आड़ में कुछ विपक्षी दल जो कृषि कानून किसानों की आर्थिक आजादी के लिए आये है इसलिए उनको अपनी राजनीतिक जमीन खिसकती आ रही है इसलिए ऐसा कर रहे है।वही करीब चार घँटे किसानों ने सचिवालय के बाहर सड़क पर प्रदर्शन किया और प्रशासन के समझाने पर की लोगो को आवाजाही में परेशानी न  किसानों ने ये प्रदर्शन समाप्त किया और सड़क से उठे।वही किसानों के इस प्रदर्शन के चलते दोनो तरफ ट्रेफिक को डाइवर्ट किया गया था।

आज प्रदेश भर के जिला मुख्यालयों पर एसवाईल के समर्थन में  बीजेपी ने उपवास कार्यक्रम रखा।वही यमुनानगर में जब किसानों का उपवास कार्यक्रम शुरू हुआ तो किसान सँघर्ष समिति और भाकियू के बैनर तले सैंकड़ो किसान इस उपवास कार्यक्रम का विरोध प्रदर्शन करने पहुंचे।इस दौरान वहाँ मौजूद भारी पुलिस बल ने किसानों को खींच कर उठाकर उपवास स्थल से हटाया।इस दौरान बीजेपी उपवास स्थल और किसानों की तरफ से जमकर नारेबाजी हुई।

किसानों के रोष प्रदर्शन को देखते हुए उपवास स्थल पर बेरिकेटिंग लगाई गई।वाटर कैनन की गाड़ियां भी मंगवाई गयी।वही किसान भी सचिवालय के बाहर रोड पर डटे रहे ।वही पुलिस प्रशासन किसानों को समझाने में लगा रहा ।कड़ी मुश्क़त के बाद किसान करीब 4 घँटे बाद प्रशासन की बात मानकर वहां से खड़े हुए।किसानों का कहना था कि एक तरफ सरकार किसान आंदोलन के बीच एसवाईएल के मुद्दे को लेकर उपवास कर रही है जबकि दादुपुर नलवी नहर चलती हुई नहर थी उसे बन्द करवा दिया गया।

सरकार किसान आंदोलन को डाइवर्ट करने के लिए ऐसा कर रही है।आज हमने डटकर विरोध प्रदर्शन किया और हम नही चाहते कि आवाजाही में किसी को परेशानी हो इसलिए हमने ये प्रदर्शन समाप्त किया है।वही किसान यूनियन के युवा नेता ने कहा कि आज पुलिस द्वारा हमारे साथ धक्का मुक्की की गई।आगे भी जो हमारा निर्णय है कोई भी बीजेपी नेता ,मंत्री गांवों में अगर आएंगे तो हम उनका विरोध करेंगे।जनता को कोई परेशानी न हो इसी के चलते हमने आज ये विरोध प्रदर्शन यही समाप्त कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here