अंबाला में किसानों की धान की खरीद शुरू

0
255

भाजपा-जजपा गठबंधन से बनी सरकार में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की बैठक हुई थी । जिसके बाद मुख्यमंत्री ने बयान दिया था कि हरियाणा के किसानों के धान का एक एक दाना खरीदा जाएगा । मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद अंबाला में किसानों की धान की खरीद शुरू हो गई । उपायुक्त अंबाला ने इसे लेकर अधिकारियों को सख्त आदेश दिए और हिदायत दी कि “मेरी फसल मेरा ब्यौरा” पोर्टल पर रजिस्टर्ड किसानों के धान की खरीद तुरन्त शुरू की जाए । अधिकारियों के इन आदेशों के बाद अंबाला की अनाज मंडी में रियल्टी चैक किया और किसानों से बातचीत कर सच्चाई जानी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के आदेश कई किसानों के लिए खुशहाली लेकर आये हैं तो कई किसानों के लिए ये आदेश दुःखदाई साबित होते नजर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री के आदेशों के बाद हमने अंबाला शहर की अनाज मंडी का रियल्टी चैक किया तो मंडी में लाखों टन धान की फसल के साथ साथ मंडी के गेट पर किसानों की लंबी लंबी लाइनें नजर आई। जहां किसान अपनी फसल के उठान के लिए गेट पास बनवाने पहुंचे हैं। लेकिन सरकार गेट पास केवल उन्हीं किसानों को दे रही है जिन्होंने अपना रजिस्ट्रेशन ” मेरी फसल मेरा ब्यौरा” पोर्टल पर किया हुआ है। इस रियल्टी चैक के दौरान कुछ किसानों की फसल का उठान होता भी दिखाई दिया और किसानों ने बताया कि उन्होंने सरकारी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाया हुआ था जिसके बाद मुख्यमंत्री के आदेश होते ही उनकी फसल का उठान शुरू हो गया है। वहीं दूसरी और कुछ किसान सरकार से बेहद नाराज भी दिखाई दिए।  क्योंकि अनाज मंडी के बाहर लगी लंबी लंबी लाइनों में घण्टों खड़ा रहने के बावजूद भी उनके हाथ निराशा ही लगी है। निराश किसानों की मानें तो सरकार सिर्फ और सिर्फ किसानों को परेशान कर रही है। मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर खुद को रजिस्टर न करवाने वाले किसानों ने बताया कि वो बीते कई दिनों से फसल के साथ मंडी में बैठे हैं लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। वीओ- मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के आदेश मिलते ही अंबाला के उपायुक्त ने भी सख्ती से अंबाला में धान की फसल के उठान के आदेश जारी कर दिए हैं। उपायुक्त ने साफ तौर पर कहा कि पहले उन्ही किसानों की फसलों का उठान होगा जो पोर्टल पर रजिस्टर हैं। इतना ही नहीं मंडी में किसानों का जमावड़ा न लगे इसके लिए भी प्रशासन ने पुख्ता प्रबंध किए हैं। जानकारी देते हुए उपायुक्त ने बताया कि पोर्टल पर रजिस्टर्ड किसानों को फसल मंडी में लाने के लिए SMS भेजा जाएगा जिसके बाद ही किसान को फसल मंडी में लेकर आनी होगी । 



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here