पहली बार वीरेंद्र सिंह अपने पूरे परिवार सहित उचाना में अपने गांव पहुंचे डूमरखा

0
197

उचाना से पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह की पत्नी प्रेमलता को फिर से बीजेपी का टिकट दिए जाने के बाद आज पहली बार वीरेंद्र सिंह अपने पूरे परिवार सहित उचाना में अपने गांव डूमरखा पहुंचे और वहां के दादा खेड़ा पर पूजा अर्चना की इस दौरान वीरेंद्र सिंह वह प्रेमलता ने अपने बेटे सांसद बृजेंद्र सिंह के साथ कपास मंडी में एक जनसभा को भी संबोधित किया, 
भाजपा नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह खरी बात कहने के लिए जाने जाते है।  पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उचाना हलके से किसको टिकट दी जाए इसको लेकर दूसरी पार्टियों के नेताओं के फोन आ रहे है। इस पर इन नेताओं को मैंने कहा कि मैं भाजपा में हॅूं तो वो अपने हिसाब से अपने उम्मीदवार उतारे। हलके से दुष्यंत चौटाला के जजपा से चुनाव लडऩे पर बीरेंद्र सिंह ने कहा कि दुष्यंत चौटाला खुद की जजपा पार्टी के उचाना के आस-पास कमजोर उम्मीदवारों को उतारेंगे ताकि वो उचाना से चुनाव लड़े तो उनको फायदा हो। हलके के लोग अब बाहरी लोगों के बहकावे में नहीं आएंगे। हलके का कोई भी उम्मीदवार किसी पार्टी से चुनाव लड़े, ये नहीं कि बाहरी उम्मीदवार यहां से चुनाव लड़ कर उचाना को अपनी कर्म भूमि बताए। ये लोग क्षेत्र को कमजोर करना चाहते है जैसे 2009 में इनेलो की तरफ से दूसरी पार्टियों के नेताओं ने ओमप्रकाश चौटाला को चुनाव लड़वा ताकि यहां से बीरेंद्र सिंह हारे।   वीरेंद्र सिंह ने चुटकी लेते हुए यह भी कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल के पोते यानी भव्य बिश्नोई भी मेरे पास पूछने आये थे कि आगे क्या करना चाहिए मैंने उसे कहा कि जहां है वहीं रुके रहो राजनीति में यह सब ऊपर नीचे होता रहता है , राजनीति में कद होना जरूरी है मुझे खुशी है कि मेरे पास पूर्व मुख्यमंत्रियों के बेटे पोते सलाह लेने के लिए आते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here