रोडवेज में कैंसर मरीज के साथ अटेंडेंट भी कर सकेगा मुफ्त यात्रा

0
79

साल 2012 में सरकार ने कैंसर पीड़ितों को सहायता देने के मकसद से उन्हें रोडवेज बसों में फ्री यात्रा की सुविधा प्रदान की थी रोडवेज बसों में अब कैंसर मरीज के साथ एक अटेंडेंट भी मुफ्त में यात्रा कर सकेगा। रोडवेज प्रबंधन ने हाल ही में आदेश जारी कर कैंसर मरीज के साथ सहायक की मुफ्त यात्रा की सुविधा को तुरंत प्रभाव से लागू करने के आदेश जारी किए हैं। जिले में इस समय 1369 कैंसर मरीज रोडवेज की फ्री बस सुविधा का लाभ ले रहे हैं। कैंसर मरीज और उसके सहायक द्वारा 150 किलोमीटर के दायरे में आने वाले अस्पताल में मुफ्त यात्रा की जा सकेगी। कैंसर मरीज के साथ एक सहायक को भी मुफ्त में यात्रा की सुविधा मिलेगी। सहायक के साथ होने से मरीजों को बसों में चढ़ने-उतरने से लेकर यात्रा में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी। जिले के 1369 कैंसर के मरीजों का फ्री यात्रा का बस पास बना है, जिसका लाभ वह उठा रहे हैं। सभी चालक-परिचालकों को आदेशों की पालना के आदेश जारी कर दिए गए हैं। कैंसर का मरीज जहां भी उपचार ले रहा है, वहां के दस्तावेज के साथ स्वास्थ्य विभाग में संपर्क कर अस्पताल से जारी ट्रीटमेंट का कार्ड दिखाना होगा। फ्री बस पास बनाने की प्रक्रिया में मरीज को अपने मेडिकल कार्ड की फोटो प्रति, राशन कार्ड व दो फोटो संबंधित कार्यालय में जमा कराना होगा। उसके बाद अस्पताल रोडवेज प्रबंधन के माध्यम से यह बस पास जारी कराएगा, जो एक साल तक मान्य होगा। इसके बाद इसे दोबारा से रिन्यू करवाना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here