हरियाणा के आढ़ती सरकार के खिलाफ मोर्चा

0
133
haryana

इन्द्री अनाज मण्डी कच्चा आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान हरपाल सिंह मढ़ाण ने बताया कि भाजपा सरकार ने व्यापारियों के हितों की अंदेखी करने के कदम उठाकर आढ़तियों को मुश्किलों में डाल दिया है। आढ़ती किसानों का देशी एटीएम है। किसान अपनी परेशानी व दुख-सुख में आढ़ती से रूपया लेता है, लेकिन सरकार ऐसी योजनाएं लागू कर है, जिससे आढ़तियों की परेशानी बढ़ रही है। उन्होंने बताया कि भाजपा सरकार 1977 से पहले वाली व्यावस्था लागू कर ई नेम पोर्टल लागू कर रही है। 1977 से पहले देश में ऐसी व्यावस्था लागू थी कि किसान अपने राज्य में ही अपनी फसल को बेच सकता था, लेकिन जनता दल के सत्ता में आने के बाद इस व्यावस्था को बदलकर किसानों को अपनी फसल देश में कहीं भी बेचने की इजाज्त दी थी। भाजपा के सत्ता में आते ही ई नेम पोर्टल प्रणाली को लागू कर दिया। उन्होंने कहा कि मेरी फसल-मेरा ब्यौरा योजना के तहत सरकार किसान की उपज का भुगतान सीधा किसान के खाते में डालेगी, जबकि किसान अपनी जरूरत में मुताबिक आढ़ती से राशि लेता है। ऐसे में आढ़ती की स्वीकृति लेने के बाद ही किसान के खाते में भुगतान डालना चाहिए। सरकार ने ऐसा वायदा भी किया था, लेकिन सरकार अपने वायदें के अनुसार काम नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने गेहंू के सीजन में उपज का भुगतान देरी से होने पर ब्याज देने का वायदा किया था। इस वायदे के मुताबिक आज किसानों को गेहूं के भुगतान में देरी होने पर ब्याज राशि नहीं दी। इस बारे में मुख्यमन्त्री मनोहर लाल खटटर सहित मन्त्रियों से मिलकर राशि देने की मांग की गई, परन्तु आज तक इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया गया। उन्होंने कहा कि सरकार की आढ़तियों के प्रति बरती जा रहीं उपेक्षित नीति के चलते प्रदेश भर के आढ़तियों की यूनियन ने 24 सितम्बर को हरियाणा में एक दिवसीय हड़ताल करने का निर्णय लिया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here