Breaking News

गुरजीवन विहार निवासी बुनियादी साहूलतों को रहे हैं तरस

जीरकपुर

जीरकपुर । ढकोली के वार्ड नंबर 9 में पड़ते गुरजीवन विहार निवासी बुनियादी साहूलतों को तरस रहे हैं। यह सोसाइटी 25 साल पुरानी है और 300 से ज्यादा परिवार सोसाइटी में रहते हैं। लेकिन बुनियादी साहूलतें ने मिलने के कारण लोग बेहद परेशान हो चुके हैं। क्योंकि वह नगर काऊंसिल के अधिकारियों को 7 बार शिकायत दे चुके हैं। यहां तक लोगों ने जनवरी महीने में सीएम विंडो में भी शिकायत दी थी और वहां से नगर काऊंसिल जीरकपुर अधिकारियों को 24 जनवरी को आदेश आए थे कि वह लोगों कि समस्या को दूर करें। लेकिन मुख्यमंत्री के आदेशों का भी काऊंसिल अधिकारियों पर कोई असर नही पड़ा। स्थानीय लोगों का कहना है कि यदि मुख्यमंत्री के आदेशों से फर्क नही पड़ा तो हमारे आग्रह से क्या फर्क पड़ता है। अब तो यही रास्ता बचता है कि हम यह स्टेट छोड़कर पड़ोसी स्टेट हरियाणा में चले जाएं। लेकिन मजबूरी यह फसी हुई है कि बुन्यादी साहूलतों ने होने के कारण उनके घर भी कोई नही खरीद रहा। वह लोग इस तरह दलदल में फस चुके हैं कि न तो आगे जा सकते हैं और पीछे जाने कि हिमंत नही रही।

सोसाइटी निवासी प्रदीप जैन, दीपक, योगराज सहोता, हरदीप सिंह, दविंदर सिंह, कुलदीप सिंह, राजू, नीरज, बिमला देवी, कमला बंसल, कंचन रानी, कामिनी ने बताया कि उनकी सोसाइटी की गलियां टूटी पड़ी हैं, सड़को में इतने बड़े बड़े गड्डे हैं की बरसात के दिनों में पानी भरने से लोग हादसा ग्रस्त हो जाते हैं। पिछले एक महीने से सीवरेज ब्लॉक हुआ पड़ा है और इतनी बदबू है की खाना खाना भी दुर्बर हो जाता है। बरसात के दिनों में पानी की निकासी नही हो पाती।

लटक रहे हैं बिजली के तार, पहले भी लग चुकी है मिटरों में आग
लोगों ने बताया कि सोसाइटी में बिजली के मीटर बॉक्स में तारों का जंजाल इस कदर बना हुआ है, जैसे मकड़ी ने जाला बुना हुआ हो। इसके इलावा तारें इतनी नीचे कि बच्चे खेलते हुए उन्हें पकड़ लेते हैं कभी भी कोई हादसा हो सकता है। लोगों ने बताया कि एक मीटर में 25 मीटर लगते हैं, लेकिन यहां मीटर इतने ज्यादा लगे हुए हैं कि बॉक्स के बाहर भी मीटर लटक रहे हैं और बिजली के खंबो पर भी लटक रहे हैं। पिछले वर्ष मीटर बॉक्स में आग लग थी तो रात डेढ़ बजे फायर ब्रिगेड ने आग बुझाई थी। लोगों ने बताया कि सोमवार को वह काऊंसिल में ईओ को 7 वीं बार मिलकर आए हैं लेकिन जिस तरीके से उन्होंने बात सुनी है लगता ही नही कि इस बार भी काम होगा। क्योंकि पहले की गई छह बार की शिकायत में काम नही हुआ, मुख्यमंत्री के आदेशों पर काम नही हुआ तो अब प्रदर्शन के इलावा कोई रास्ता नही बचा है।

यह सोसाइटी हमारे अंडर आती है या नही, यह चैक करना पड़ेगा। मैं अभी ऑफिस में नही हूं, यदि शिकायत दी है तो चैक करने के बाद ही पता चल पाएगा। बाकी लोगों की समस्याओं का समाधान करना हमारा फर्ज है।

About ANV News

Check Also

आईवीवाई अस्पताल, अमृतसर ने गुर्दा प्रत्यारोपण शुरू किया

आईवीवाई अस्पताल, अमृतसर ने शनिवार को गुर्दा प्रत्यारोपण सुविधा शुरू करने की घोषणा की है। …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share