स्वास्थ्य विभाग ने मारा डायग्नोस्टिक सेंटर पर छापा

0
162

झज्जर स्वास्थ्य विभाग को एक सूचना मिली थी कि कुछ लोग पैसे के लालच में लिंग भ्रूण जांच का गोरख धंधा करते हैं। जिसके चलते विभाग ने टीम का गठन किया और एक गर्भवती महिला के माध्यम से गोरखधंधे में शामिल दलालों को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। इस गोरखधंधे में शामिल दलाल भ्रूण जांच करवाने के नाम पर 50000 रुपेए की मोटी रकम  वसूलते थे। इसी जाल में अनूप नाम का एक दलाल स्वास्थ्य विभाग की टीम के हत्थे चढ़ गया। जिसने उक्त गर्भवती महिला से भ्रूण जांच के नाम पर 50 हजार रुपए लिए और जांच करवाने के लिए रोहतक की डायग्नोस्टिक सेंटर पहुंचा। जहां पर स्वास्थ्य विभाग वह पुलिस की टीम ने अनूप नाम के इस दलाल को पैसों सहित गिरफ्तार कर लिया।हालांकि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने डायग्नोस्टिक सेंटर को क्लीन चिट दे दी है।  डॉक्टर ने बताया की अल्ट्रासाउंड कराने गई महिला से डायग्नोस्टिक सेंटर ने आईडी मांगी। पति की आईडी ना होने के चलते अल्ट्रासाउंड करने से मना कर दिया था। लेकिन दलाल ने अपनी आईडी को पति की आईडी बताते हुए अल्ट्रासाउंड करवाया। जिसके लिए डायग्नोस्टिक सेंटर ने केवल 900 रुपए वसूल किए। इसलिए विभाग की टीम ने डायग्नोस्टिक सेंटर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here