PGI से करोड़ों रुपये का हेरिटेज फर्नीचर हुआ चोरी

0
41

शहर से हेरिटेज फर्नीचर चोरी होने के मामले रुक नहीं रहे हैं। इस बार पीजीआइ की सेंट्रल वर्कशॉप से पियरे जेनरे का डिजाइन किया हुआ करोड़ों रुपये का हेरिटेज फर्नीचर चोरी होने का मामला सामने आया है। यह घटना दो अक्टूबर की है। घटना के बाद से पीजीआइ के प्रशासनिक अधिकारियों में खलबली मची हुई है। पीजीआइ प्रशासन इसकी अपने स्तर पर जांच करवा रहा है। अवकाश के दिन मौका पाकर उन कीमती फर्नीचरों पर किसी ने बड़ी चतुराई से हाथ साफ किया है। जिसकी जानकारी चार अक्टूबर को सेंट्रल स्टोर के मेन रूम में रखे गए हेरिटेज फर्नीचरों के मिलान के दौरान पता लगी। मामला पीजीआइ प्रशासन के संज्ञान में है लेकिन छह दिन गुजरने के बाद भी अब तक एफआइआर दर्ज नहीं कराई गई है।

सूत्रों का कहना है कि पीजीआइ प्रशासन मामला दबाने की फिराक में है क्योंकि इसमें किसी अंदर के ही कर्मी के इन्वॉल्व होने की आशंका जताई जा रही है। फर्नीचर का सामान 30 से 35 की। स्टोर संख्या में सेंट्रल स्टोर में कड़ी निगरानी में रखे गए उन चोरी हुए फर्नीचरों की कीमत करोड़ों रुपये में आंकी जा रही है। कर्मचारियों का कहना है कि लगभग 30 से 35 कीमती फर्नीचर का सामान चोरी हुआ है। उसमें एक-एक फर्नीचर की कीमत 20 से 25 लाख रुपये है। सूत्रों के अनुसार जिन फर्नीचरों की चोरी हुई है, उसमें वी शेप के 25 लकड़ी की सोफा चेयर, पांच बैंच और दो टू शीटर सोफा सेट शामिल है। चौंकाने वाली बात यह है कि इन फर्नीचरों को सेंट्रल स्टोर के हाल में बनाए गए सेफ रूम में कड़ी निगरानी के बीच रखा गया था।मामले की जानकारी मिलते ही पीजीआइ प्रशासन ने फिंगर प्रिंट एक्सप‌र्ट्स को बुलाकर सेंट्रल स्टोर के मेन रूम में एक-एक सामान की बारीकी से जांच कराई है। जानकारी के अनुसार हॉस्पिटल इंजीनियर, सिक्योरिटी ऑफिसर समेत अन्य आलाधिकारियों ने अपने स्तर पर मामले की जांच शुरू कर दी है। लेकिन अब मामला पुलिस तक नहीं पहुंचा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here