हिमाचल प्रदेश स्कूल, प्राध्यापक संघ ने तबादला नीति के विरोध में खोला मोर्चा !

0
203


हिमाचल प्रदेश स्कूल प्राध्यापक संघ बिलासपुर के प्रधान नरेश ठाकुर ,राज्य वरिष्ठ उप प्रधान हेम राज , मुख्य प्रेस सचिव राजेन्द्र शर्मा , सतीश शर्मा,राजेश शर्मा,अमित कौशल ,बलदेव शर्मा, जिला उप प्रधान भूपेंदर ठाकुर, महासचिव जगदीश कौंडल , राजेन्द्र ,देश राज ,अमित कौशल ,अरविंद , रमेश जसवाल ,पवन शर्मा,राजेन्द्र , विजय कुमार ,सुरेश कुमार ,पवन ठाकुर ,जगदीप ठाकुर,रवि दत्त नड्डा,विनोद कुमार ,अश्वनी राणा , महेंद्र ,सुशील ,हरविंदर सिंह ,डॉ प्रेम , सुशील ठाकु, कुलदीप,गजेंद्र धीमान,सुरेंद्र ठाकुर,रवि कांत कौशल, महिला अध्यक्ष रेणु सांख्यान ,पूजा शर्मा, अनु ठाकुर , रेखा ठाकुर ,निर्मल ठाकुर,सीमा पाठक , ने सयुंक्त बयान जारी करते हुए स्कूल प्राध्यापक संघ ने तबादला नीति के विरोध में खोला मोर्चा,कहा सभी सरकारी विभागों के लिए होनी चाहिए एक-समान नीति। शिक्षकों से भेदभाव की नीति सही नहीं है।हिमाचल प्रदेश स्कूल प्राध्यापक संघ ने नए शैक्षणिक सत्र से प्रस्तावित स्थानांतरण नीति का विरोध दर्ज किया है। संघ का मानना है कि सभी विभागों के सरकारी कर्मचारियों के लिए प्रदेश सरकार को एक जैसी तबादला नीति लानी चाहिए।केवल शिक्षकों के लिए ऐसी नीति थोपना कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार होगा। स्कूल प्राध्यापक संघ सदैव शिक्षा जगत के लिए किए गए अच्छे व सुधारवादी कार्यों के लिए सरकार व शिक्षा विभाग का समर्थन करता है परंतु ऐसी नीति बनाने से पहले शिक्षक संगठनों से विचार-विमर्श करने की नितांत आवश्यकता है। शिक्षकों को अध्यापन के अलावा दूसरे कार्यों से निजात दिलवाने, स्कूलों में हजारों रिक्त पदों को भरने,आधारभूत ढांचे को सुदृढ़ करने,पाठेत्तर गतिविधियों को रोकने, प्रधानाचार्य के पदों को भरने, विद्यार्थियों के हितों को ध्यान में रखने जैसे महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर अमल करना चाहिए। स्कूल वर्दी की गुणवत्ता में सुधार लाकर मेधावी विद्यार्थियों के लिए दिए जाने वाले लेपटॉप को शीघ्रातिशीघ्र मुहैया कराने की पहल करनी चाहिए। प्रस्तावित स्थानांतरण नीति में भौगोलिक परिवेश,हर जिले में पांच जोन, जिला केडर शिक्षकों के लिए नीति, दूरदराज क्षेत्रों के लिए मकान भत्ते में आवश्यक वृद्धि करके इस नीति को तर्कसंगत व व्यावहारिक बनाया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here