Sunday , May 26 2024
Breaking News

विशेष बच्चों को शिक्षित करेंगे और समाज की मुख्य धारा से जोड़ेंगे तो समाज जरूर आगे बढ़ेगा – राज्य आयुक्त राजकुमार मक्कड़

कैथल। हरियाणा राज्य आयुक्त (नि:शक्त जन) राजकुमार मक्कड़ ने कहा कि विद्या का दान सबसे बड़ा दान है। यदि हम विशेष बच्चों को शिक्षित करेंगे और समाज की मुख्य धारा में जोड़ेंगे तो समाज आगे बढ़ेगा। इस कार्य के लिए हम सभी का सहयोग बहुत जरूरी है। सरकार द्वारा भी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से लाभ पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है।

राज्य आयुक्त राजकुमार मक्कड़ न पट्टी अफगान स्थित गुरू ब्रहस्पति दिव्यांग एवं बाल उपवन केंद्र में नव जीवन केंद्र का शुभारंभ करने के दौरान बोल रहे थे। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि इस नव जीवन केंद्र के माध्यम से विशेष बच्चों की जिंदगी में बदलाव लाने का कार्य किया जाएगा। कोई भी दिव्यांग शिक्षा से वंचित नहीं रहना चाहिए, इसी लक्ष्य के मद्देनजर समाज सेवी संस्थाओं के अलावा अन्य सरकारी व गैर सरकारी संस्थाओं को इन विशेष बच्चों के उत्थान के लिए मिलकर कार्य करना होगा। सरकार द्वारा दिव्यांग अध्यापकों की नियुक्तियां की जा रही है। दिव्यांग व्यक्ति में दिव्य आत्मा होती है और हमें इसकी निष्ठा से पूजा करनी चाहिए। ऐसा करने से ही आपको भगवान के दर्शन होंगे।

राज्य आयुक्त राजकुमार मक्कड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल सभी वर्गों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं क्रियान्वित कर रहे हैं। हरियाणा सरकार द्वारा दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय परिवार सुरक्षा योजना (दयालु) की शुरूआत की है, जिसके अंतर्गत 1 लाख 80 हजार रुपये से कम आय वाले व्यक्ति की यदि किसी दुर्घटना या प्राकृतिक रूप से मृत्यु होती है तो फैमिली इन्फोरमेशन डाटा रिपोजिट्री यानि एफआईडीआर आधार पर उनके परिजनों को 5 से 12 वर्ष की आयु तक 1 लाख रुपये, 12 वर्ष से 18 वर्ष की आयु तक 2 लाख रुपये, 18 वर्ष से 25 वर्ष की आयु तक 3 लाख रुपये, 25 वर्ष से 40 वर्ष की आयु तक 5 लाख रुपये, 40 वर्ष से 60 वर्ष की आयु तक 2 लाख रुपये की राशि प्रदान की जाएगी।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश में ऑनलाईन व्यवस्था शुरू की है, जिससे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा है। अब दिव्यांग व्यक्तियों को अपनी पैंशन के लिए परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। अब अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सैंटर पर जाकर अपना परिवार पहचान पत्र और यूडीआईडी कार्ड को जुड़वाना होगा, जिससे पैंशन ऑटोमैटिक मॉड से शुरू हो जाएगी। जिला कैथल में 8 हजार 776 दिव्यांग लोगों को पैंशन दी जा रही है। स्कूल में जाने वाले दिव्यांग बच्चों को 18 वर्ष आयु वर्ग तक 2150 रुपये की राशि प्रदान की जाती है।

दिव्यांग व्यक्ति एचएसएससी तथा एचपीएससी में फार्म एप्लाई करना फ्री है। दिव्यांग व्यक्तियों के लिए लिखने के लिए लेखक बैंक बनाया गया है, उन्हें सैंटरों पर ही पेपर के दौरान लिखने की सुविधा के लिए लेखक दिया जाएगा। दिव्यांग मित्र हरियाणा पोर्टल बनाया गया है, जिस पर कोई भी दिव्यांग व्यक्ति अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है। दिव्यांग व्यक्तियों को यदि कोर्ट में कोई केस के लिए वकील की मदद लेनी है तो वह भी फ्री में मिलेगी। सरकारी स्थानों पर दिव्यांगों की सुविधा के लिए रैंप बनवाने के आदेश पहले से ही जारी है, यदि कोई इसकी उल्लंघना पाए जाने पर कार्रवाई अमल में लाई जाती है। इस दौरान राज्य आयुक्त ने एजुकेटर व विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक भी ली।

About admin

Check Also

स्वाति मालीवाल केस : दिल्ली पुलिस की बड़ी कार्रवाई विभव कुमार को किया गिरफ्तार

आम आदमी पार्टी (AAP) की सांसद स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) के साथ हुए कथित मारपीट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *