कोविड-19 वायरस के विश्वव्यापी प्रभावों को देखते हुए हिमाचल प्रदेश सरकार जीरो रिस्क नीति पर कर रही काम

0
220

ऊना : कोविड-19 वायरस के विश्वव्यापी प्रभावों को देखते हुए हिमाचल प्रदेश सरकार जीरो रिस्क नीति पर काम कर रही है। यह बात ग्रामीण विकास, पंचायती राज, मत्स्य तथा पशु पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कही।कंवर ने कहा कि आम नागरिकों की सुरक्षा हिमाचल प्रदेश सरकार का प्रथम दायित्व है और इसी को देखते हुए जनहित में फैसले लिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग हालात पर लगातार नजर बनाए हुए है और डरने की कोई आवश्यकता नहीं है। कोरोना से बचने के लिए लोगों को सावधान रहना चाहिए। वीरेंद्र कंवर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण का अभी तक कोई भी ऐसा मामला सामने नहीं आया है फिर भी प्रदेश सरकार ने इससे निपटने के लिए जरूरी इंतजाम कर लिए हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर धार्मिक स्थलों, सत्संग, मेले, त्यौहार, जगराते सहित पार्टियां व अन्य समारोहों के आयोजन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग व प्रदेश सरकार नियमित रूप से आदेश जारी कर रहा है और लोगों को सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों को लागू करने में सहयोग करना चाहिए।कोरोना के प्रति जागरूकता लाने के लिए स्वास्थ्य विभाग तथा अन्य विभागों ने एक अभियान छेड़ दिया गया है। आम जन मानस को बताया जा रहा है कि कोविड-19 से बचने के लिए व्यक्तिगत स्वच्छता का ध्यान रखें। बार-बार हाथ धोएं तथा भीड़-भाड़ वाले स्थानों में जाने से परहेज करें। अनावश्यक यात्रा से बचें क्योंकि इससे संक्रमण का खतरा बढ़ता है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि जिन व्यक्तियों में कोरोना से मिलते-जुलते लक्षण हों वह स्वयं नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में पहुंच कर जांच कराएं। अगर किसी को खांसी, बुखार या सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षण हों तो उस व्यक्ति से एक मीटर की दूरी बना कर रखें। इस अवसर पर जिला भाजपा अध्यक्ष मनोहर लाल, मंडल अध्यक्ष मास्टर तरसेम, अतिरिक्त उपायुक्त अरिंदम चौधरी, जिला पंचायत अधिकारी रमण कुमार शर्मा, पीओ डीआरडीए संजीव ठाकुर, बीडीओ ऊना यशपाल सिंह सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here