जस्टिस राकेश कुमार पर लगाई रोक

0
239
judge

पटना हाई कोर्ट में सीनियर जस्टिस राकेश कुमार की न्यायपालिका पर बेहद तल्ख टिप्पणी के बाद मुख्य न्यायाधीश ने नोटिस जारी करते हुए उनके सभी केसों की सुनवाई पर रोक लगा दी है. जस्टिस राकेश कुमार ने न्यायपालिका से जुड़े सीनियर जजों की कार्यप्रणाली पर उठाते हुए तीखा प्रहार किया था.हाई कोर्ट में पूर्व आईएएस अधिकारी केपी रमैय्या की खारिज अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान जस्टिस राकेश कुमार ने न केवल भ्रष्ट अधिकारियों की खिंचाई की बल्कि न्यायपालिका तक को भी नहीं छोड़ा. हाई कोर्ट के जस्टिस राकेश कुमार ने टिप्पणी करते हुए कहा कि भ्रष्टाचारियों को न्यायपालिका से ही संरक्षण मिल जाता है. इसी वजह से उसके हौसले बुलंद रहते हैं. कोर्ट ने दो घंटे में लिखाए गए ऑर्डर की प्रतिलिपि पीएमओ, कॉलेजियम, केंद्रीय कानून मंत्रालय और सीबीआई के निदेशक को अग्रसारित करने का भी आदेश दिया है.जस्टिस राकेश कुमार ने कहा कि बाद में पता चला कि मुख्य न्यायाधीश के आगे-पीछे हाई कोर्ट के सीनियर जज तक लगे रहते हैं. जब हमने न्यायाधीश पद की शपथ ली थी, तब से देख रहा हूं कि सीनियर जज भी मुख्य न्यायाधीश को मस्का लगाने में मशगूल रहते हैं, ताकि उनसे कोई फेवर लिया जा सके और इससे ही भ्रष्ट लोगों को संरक्षण मिलता है.मुख्य न्यायाधीश को लेकर तीखी टिप्पणी किए जाने के बाद हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश ने नोटिस जारी करते हुए जस्टिस राकेश कुमार के सभी केसों की सुनवाई पर रोक लगा दी है. यह अपने तरह का पहला मौका है जब पटना हाई कोर्ट के किसी जज ने न्यायपालिका की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए तीखा प्रहार किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here